अब हर कदम एक सरप्राइज़ होगा – माधुरी दीक्षित

1 min


4.a

जब माधुरी दीक्षित ने डॉक्टर श्रीराम नेने से शादी करने का बड़ा कदम उठाया, तो कई लोगों को लगा कि वह अच्छे के लिए गई है। लेकिन माधुरी ने अपना आइरिस पार्क स्थित ‘विजय दीप’ नहीं छोड़ा जहां उनके पड़ोसी देव आनंद और डिंपल कपाडि़या थे। कुछ था जो माधुरी को अपनी जड़ों और अपनी धरती माँ से अलग होने नहीं दे रहा था। समय गुजरा और वह डॉक्टर नेने की पत्नी बनी और उनके साथ अमेरिका के डेनवर में रहने लगी। फिर वह दो बेटों अरिन और रयान की माँ बनी। माधुरी ने फिल्मों से नाता तोड़ दिया और उसने फिल्मों में वापिस लौटने की लोगों की उम्मीदों पर भी विराम लगा दिया। लेकिन कुछ सालों बाद उसके अंदर फिर से अपनी धरती माँ से जुड़ने का विचार आने लगा और वह वापसी करना चाहती थी। आदित्या चोपड़ा द्वारा किए गए एक कॉल ने उसके सारे प्लान बदल दिए और वह मुंबई यशराज फिल्म्स की फिल्म ‘आजा नचले’ करने के लिए आ गई। उस दौरान फिल्म करने के साथ माधुरी ने रिएलिटी डांस शो ‘झलक दिखला जा’ में जज की भूमिका निभाने के लिए हामी भर दी। फिर वह दोबारा वापस अपने बेटों और अपने बूढ़े माता पिता की देखभाल करने के लिए चली गई। इसके बाद माधुरी ने एक बहुत बड़ा फैसला किया। उसने वापिस हमेशा के लिए अपने पूरे परिवार के साथ मुंबई लौटने का फैसला किया। सबसे हैरानी की बात यह थी कि उनके पति डॉ श्रीराम नेने, जिन्होंने अपनी पूरी जि़ंदगी यूएस में बिताई थी, वह भी उनके साथ मुंबई आ गए। माधुरी अपने पुराने घर में वापस आ गई। उसका स्वागत सभी ने किया। जल्द ही माधुरी को कुछ अच्छे कमर्शियल एड के ऑफर मिले, जिसके लिए उसे अच्छी रकम भी दी गई। माधुरी को दर्जनों फिल्म के ऑफर मिले लेकिन वह सावधान रहना चाहती थी क्योंकि उसे पता था कि वह वापिस कुछ अच्छे काम करने के लिए आई है और वह ऐसी गलतियां नहीं कर सकती जिसके लिए उसे बाद में पछताना पड़े। आखिरकार माधुरी ने दो फिल्में ‘डेढ़ इश्कियां’ और ‘काला गुलाब ’ में काम करने के लिए हामी भरी। इसके साथ ही ‘झलक दिखला जा’ के मेकर्स माधुरी को अपने इस सीज़न के लिए भी जज बनाना चाहते थे। इस शो के लाँच के पहले दिन माधुरी ने मुझसे बात की, एक ऐसे लेखक से जो उसे उसके स्कूल के समय से जानता है।

4.b

॰ इंडस्ट्री के कुछ अलिखित रूल है जो कहते है कि एक बार अगर अभिनेत्री 30 के पार चली जाए या फिर उसकी शादी हो जाए और उसके बच्चे हो, तो उसका कैरिअर खत्म हो जाता है। आपने इस प्रकार के रूल के बावजूद कैसे अपना करिअर दोबारा शुरू करने का फैसला किया?
– अगर यह रूल है तो मैं यहां इसे तोड़ने आई हूँ। एक कलाकार की कोई उम्र नहीं होती और यह उस कलाकार पर निर्भर करता है कि वह किस तरह अपनी कला को जि़ंदा रखता है। यह सब जुनून की बात है। अगर उसमें कुछ करने का जुनून है तो वह किसी भी हालात में अपने आपको साबित कर सकता है।

॰ आप अपने कैरिअर के इस मोड़ पर किस प्रकार के रोल की उम्मीद कर रही है?
– मुझे पूरा विश्वास है कि मैं किसी प्रकार का रोल कर सकती हूँ। मुझे पता है कि मैंने हिंदी फिल्मों में हर प्रकार के रोल किए है लेकिन मुझे पता है कि अब फिल्मों में विषय से लेकर नए डायरेक्टर्स और नए एक्टर्स तक कुछ बदलाव भी हुए है। इंडस्ट्री में जो कुछ हो रहा है, मैं उसे ध्यान से देख रही हूँ और खामोशी से इस नए बदलाव को सीख रही हूँ। मुझे पता है कि मुझे क्या करना है इसलिए मैं अपना समय ले रही हूँ।

॰ आपने पिछले साल भी झलक दिखला जा में जज की भूमिका निभाई थी। अब आपने फिर इस शो को क्यों चुना?
– जैसा आपको पता है कि मुझे हर प्रकार के डांस बहुत पसंद है। इसी जुनून की वजह से मैंने इस शो को चुना जहां मेरे आसपास डांस का वातावरण रहता है। इस वजह से मैंने इस शो में जज की भूमिका के लिए हामी भरी। मुझे इस शो का पहला सीज़न भी बहुत पसंद आया था।

॰ अपने फिल्मी कैरिअर के बारे में बताइए?
– मैंने जबसे मुंबई में कदम रखा है, मुझे बहुत सारे ऑफर मिल रहे है। लेकिन मैं बहुत सावधानी से चल रही हूँ। फिल्मों, कमर्शियल या फिर टॉक शो में कदम रखने से पहले सावधानी शब्द मेरे साथ जुड़ गया है। मैंने दो फिल्मों के लिए हामी भरी है। एक डेढ़ इश्किया जो पहले बनेगी ओर फिर उसके बाद काला गुलाब। मुझे लगता है कि फिलहाल मेरे लिए यह दो फिल्में काफी है। भविष्य की बाद में सोचेंगे।

॰ क्या आपको 9 जून को हुसैन साहिब की याद आई क्योंकि इस दिन उनके निधन को पूरा एक साल हो गया?
– समय बहुत जल्दी बीत जाता है। यकीनन, मुझे उनकी याद आई। मैं उस महान आदमी को कैसे भूल सकती हूँ जिन्होंने मुझे जि़ंदगी का नया रास्ता दिखाया था। मुझे उनके साथ बिताया हुआ हर लम्हा याद है। मुझे गज गामिनी की शूटिंग के सारे लम्हें याद है। खासकर उनके हाथों द्वारा बनी बिरयानी जो वह मेरे लिए अपने आप बनाकर लाते थे। वह मुझे कई बार बोलते थे कि मुझमें उन्हें अपनी माँ दिखती थी। मुझे लगता मेरी जि़ंदगी में उनसे हुई मुलाकाते मेरे लिए सबसे खास है और मैं वादा करती हूँ कि वह हमेशा मेरी जि़ंदगी का हिस्सा रहेंगे।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये