बाप बेटी का मधुर मिलन

1 min


rekha-rare-pictures1

 

(मायापुरी अंक 3,1974)

रेखा जब दस वर्ष की बच्ची थी तो उससे बहुत पहले ही उसके बाप जेमिनी गणेशन उसकी मां से सम्बंध विच्छेद हो गए थे। रेखा कभी अपने बाप से मिलना चाहती थी तो वह नही मिलता था। वह यह जाहिर करना नही चाहता था कि रेखा उसकी बेटी है।

अब जबकि रेखा जवान हो गई तो वह अपने बाप से बीते दिनों का बदला लेना चाहती थी। लेकिन पिछले दिनों जब वह मद्रास गई और जहाज से नीचे उतरी तो देखा उसका बाप जेमिनी बाहें फैलाए खड़ा है। दोनों बाप बेटी गले मिल गए और सारे गिले शिकवे खत्म हो गए, बम्बई में जेमिनी गणेशन की जब एक तामिल फिल्म का प्रदर्शन हुआ तो रेखा ने वह फिल्म जेमेनी गणेशन के साथ बैठ कर देखी और फिल्म खत्म होने पर उसके काम की सराहना की। इस पर जेमेनी गणेशन ने प्यारी बेटी का आभार माना।
किन्तु अभी तक यह नही पता चला कि यह मधुर मिलने केवल बाप-बेटी का हुआ है था रेखा की मां पुष्पावल्ली और जेमिनी गणेशन का भी मनमुटाव दूर हो गया है।

SHARE

Mayapuri