माननीय मुख्यमंत्री महोदय उत्तर प्रदेश – मनीष मस्ताना (गीतकार)

1 min


मनीष मस्ताना

सेवा मे
माननीय मुख्यमंत्री महोदय उत्तर प्रदेश,

अब आप संगीत कला से जुड़े लोगों के साथ अन्याय कर रहे है,ये बाहुबली नहीं है महोदय,ये सरस्वती के बच्चे है,इनकी हाय आप की सरकार लेे डूबेगी, 95%गाने बजाने वालों के पास न ज़मीन है न और कोई कमाई का साधन,केवल इन्हे प्रोग्रामों का ही सहारा है,जब 100 आदमी उपस्थित रह सकते है तो 10 कलाकार प्रोग्राम क्यों नहीं कर सकते,सरकारी कर्मचारी घर बैठे सरकार से पैसा ले रहे है,इन्हे तो आप को देना भी नहीं है ये तो अपने कला कौशल से कमाते है,एक शहर में लाखो लोग बाज़ार में जाम लगाए हुवे है तब Corona का विस्तार नहीं हो रहा है इन्हीं के गाने बजाने से Corona फैल जाएगा,तमाम लोगों के लिए तमाम सुविधाओं का ऐलान हुआ लेकिन संगीत से जुड़े हुवे लोगों के लिए सरकार के पास कुछ नहीं है,वैसे इन्हे भीख नहीं अधिकार चाहिए जो आप दे नहीं रहे हैं,और इनके बगैर आप नेता या बाबा लोगों को कोई सुनता भी नहीं ये आप की शुरुआत भी करते है और समापन भी,कितने लाख लोग इस क्षेत्र से जुड़े है आज उनका परिवार परेशानी में है,क्या आप को मालूम है जो लड़कियां डांस करती थीं वो क्या कर रही है खैर जाने दीजिए आप सन्यासी आदमी जान के भी क्या करेंगे,संगीत और साहित्य परमात्मा का दिया हुआ उपहार है जो सबको नहीं मिलता और इसकी साधना करने वालों को स्वर्ग से किसी भूल बस धरती पे भेजा गया देवता बताया जाता है,और आप देवताओं को ही परेशानी में डाल दिए है ,जिनके सांसों की गिनती अभी बाकी है वो रहेंगे मरेंगे नहीं कृपया मेरे निवेदन पे विचार करें लाखों कलाकारों की दुआए भी कोरोना संकट से उबारने के काम आ सकती है

मनीष मस्ताना (गीतकार)


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये