महामारी के दौर में प्रियांशु पैनुएली और वंदना जोशी ने देहरादून में शादी की और ये वो समय था जब दोनों एक दूसरे के साथ सबसे ज्यादा प्यार करने का समय पा रहे थे

1 min


 सुलेना मजुमदार अरोरा

अपनी इस अचानक शादी के फैसले पर प्रियांशु ने कहा, “2020 की शुरुआत में, हम आराम से ज़िन्दगी बसर कर रहे थे, यह नहीं जानते थे कि हमारे रास्ते में क्या आने वाला है लेकिन तब से हर दिन वो हमें , हमारे  परिवार और प्रियजनों की याद दिलाता रहा हैं। इस महामारी ने दुनिया भर में शादी की योजनाओं पर रोक लगा दी लेकिन वंदना और मैंने इस महामारी को भी पॉसिटिवली लिया और एक छोटा सा समारोह करने का फैसला किया। आप में से उन लोगों के लिए मैं कहना चाहता हूँ जो इस घड़ी में हमारे साथ नहीं है कि सशरीर आप भले ही हमारे साथ नहीं हो इस शुभ मुहूर्त में लेकिन फिर भी आप सबका आशिर्वाद हमारे साथ है। हमने हमारे इस विवाह के गठबंधन को एक रिमाइंडर के रूप में बांधा है। ये हमारे लिए और बाकी सभी कि लिए एक यादगार है कि जीवन चाहे हमें कहीं भी ले जाए, परिवार सर्वोपरि और पवित्र होता है और हमारी प्राथमिकता परिवार के प्रति होनी चाहिए।  यह विवाह का दिन, हमारे जीवन का सबसे अच्छा दिन था और जिसने इसे और भी खास बना दिया वह है यह अहसास, कि जब चारों ओर सब कुछ निराशा से भरा था तो ईश्वर ने हमें दुनिया में सबसे बड़े आनन्द के साथ शुभकामनाएं दी हैं। एक दूसरे के लिए हम जीवन भर, सबसे अच्छे दोस्त, बेहतरीन पार्टनर, सोलमेट्स और बराबरी में रहने का वादा करतें हैं।

आप पूछते हैं कि कोरोनो वायरस के समय में प्यार करना कैसा महसूस हो रहा है? गेब्रियल गार्सिया मार्केज़ के शब्दों में, “यह वह समय था जब वे दोनों एक-दूसरे से सबसे अधिक प्यार कर रहे थे, बिना किसी हड़बड़ी या एक्सेस के, ये वो समय था जब दोनों इस आपदा के समय को सही तरीके से विजय पाने के प्रति सचेत और शुक्रगुज़ार थे, जीवन उन्हें आगे और भी अन्य  कसौटियों में परखेगा, लेकिन अलबत्ता यह अब मायने नहीं रखता है।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये