13 वें पुणे इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में दिखाई जाएँगी फिल्में

1 min


13वें पुणे इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल का आयोजन पुणे में 8 से 15 जनवरी, 2015 तक होगा. इस फेस्टिवल में 75 देशों की 200 फिल्में 350 शोज़ में दिखाई जाएँगी. इस फेस्टिवल का उपघाटन महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फदनाविस करेंगे. यह सेरेमनी जनवरी 8 को शाम 4 बजे सिटी प्राइड कोथरुड में होगा. इन मूवीज की स्क्रीनिंग पुणे के 8 अलग-अलग जगहों के 14 स्क्रीन्स पर होगी. इसे पुणे फिल्म फाउंडेशन और महाराष्ट्र गवर्नमेंट मिलकर आयोजित कर रहा है. इस फेस्टिवल की पूरी जानकारी (पीआईएफएफ) के डायरेक्टर और वेटरन फिल्ममेकर डॉ. जब्बर पटेल ने किया. उनके साथ मुनिपल कमिश्नर ऑफ़ पिम्परी चिंचवड म्युनिसिपल कारपोरेशन राजीव जाधव, सीनियर फिल्म अकैदेमियन समर नखाते और एसोसिएट डायरेक्टर ऑफ़ (पीआईएफएफ) संतोष उनेचा भी मौजूद थे.

10897873_10152439191466467_6805869147099222367_n

डॉ. पटेल ने इस फेस्टिवल के थीम ‘वॉर अगेंस्ट वॉर’ के बारे बताते हुए कहा कि इस साल फर्स्ट वर्ल्ड वॉर की 100 वी एनिवर्सरी है और ‘द फॉल ऑफ़ द बर्लिन वॉल’ की 25वी सालगिरह है. इस थीम के ज़रिये वह इंसानियत और दुनियां में शांति फ़ैलाने का सन्देश देना चाहते है.

देशभर की फिल्में 13 सेक्शनस में दिखाई जाएँगी जिनमे वर्ल्ड कम्पटीशन, मराठी कम्पटीशन, वोल्क्सवगेन इंटरनेशनल स्टूडेंट कम्पटीशन (लाइव एक्शन एंड एनीमेशन), महाराष्ट्र टूरिज्म डेवलपमेंट कारपोरेशन शॉर्ट फिल्म कम्पटीशन (नेचुरल हेरिटेज, मैनमेड हेरिटेज एंड कल्चर ऑफ़ महाराष्ट्र), कंट्री फोकस, रेत्रोस्पेक्टिवे, इंडियन सिनेमा, ट्रिब्यूट, केलिडोस्कोप, फिल्म्स एंड डॉक्यूमेंट्रीज़ फ्र्म फिल्म डिवीज़न, ग्लोबल सिनेमा, फिल्म्स रिस्टोर्ड बय एनडीएमसी, वॉर अगेंस्ट वॉर और मराठी सिनेमा टुडे.

स्क्रीनिंग के अलावा, फेस्टिवल में सिनेमा की वेटरन हस्तियों के साथ सिनेमा के बारे में चर्चा करने का मौका मिलेगा. इसमें विजय तेंदुलकर का मेमोरियल लेक्चर, मराठी सिनेमा के सेमिनार्स और इंडियन और इंटरनेशनल जगत के लोगों से इंटरेक्शन होगा.

इस साल पीआईएफएफ सिनेमा में अपने योगदान के लिए सम्मानित्किया जायेगा जिनमे एक्टर शत्रुघ्न सिन्हा, तनूजा मुख़र्जी, वेटरन पोएट-लेखक एन.डी. महानोर शामिल है. पिछले साल मृणाल सेन, दिलीप कुमार, लता मंगेशकर, देव आनंद, वहीदा रहमान, शक्ति सामंता, व्य्जन्तिमाला, यश चोपड़ा, असह पारेख, धर्मेन्द्र, शर्मीला टैगोर, शम्मी कपूर, शशि कपूर, सुलोचना, हेमा मालिनी, श्रीराम लागू, राजेश खन्ना, शशिकला, सिरा बनू, सुभाष घी, अमिताभ बच्चन, आशा भोंसले, रमेश दो, जितेन्द्र, अदूर गोपालकृष्णन और विनोद खन्ना को सम्मानित किया गया था.

एस.डी. बर्मन इंटरनेशनल अवार्ड फॉर क्रिएटिव साउंड एंड म्यूजिक अवार्ड से म्यूजिक कंपोजर आनंदजी शाह को सम्मानित किया जायेगा. 2010 में ये अवार्ड म्यूजिक डायरेक्टर्स जैसे प्यारेलाल, खय्याम, इलैयाराजा, पंडित शिवकुमार शर्मा, पंडित हरिप्रसाद चौरसिया और पंडित हृदयनाथ मंगेशकर को दिया गया था.

पीआईएफएफ की इंटरनेशनल जूरी होगी क्र्जय्स्ज्तोफ़ ज़नुस्सी (पोलैंड), किरण नागरकर (इंडिया), फ़र्नांडो कोलोमो (स्पेन), डॉ.हेलमुट ग्रोस्चुप (ऑस्ट्रिया), मार्सेल गिस्लेर (स्विट्ज़रलैंड), मार्को साइमन पुक्किओनि (इटली), पीटर

इस साल पीआईएफएफ ने फैसला किया है कि पिंपरी चिन्च्वाद इस फेस्टिवल को होस्ट भी करेगी. इसमें बिग सिनेमा और चिन्च्वाद भी देवोट करेंगे और ऑडियंस को इस फेस्टिवल के ज़रिये इंटरनेशनल सिनेमा को देखने का भी मौका मिलेगा.

इसमें सभी केटेगरी की फिल्मों को अलग-अलग कैश प्राइज मिलेगा जो 5 लाख से 10 लाख और कुछ विनर्स को 25000 रुपये के कैश प्राइज भी रखे गए है. रजिस्ट्रेशन पीआईएफएफ की साईट पर किया जायेगा और स्टूडेंट्स, सीनियर सिटीजन और फिल्म मेम्बेर्स को 500 की फीस रखी गई है वही बाकियों के लिए 700 फीस है.


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये