कैटरीना कैफ

1 min


हैप्पी बर्थडे कैटरीना कैफ

कैटरीना कैफ बॉलीवुड और टोलीवूड मे धमाल मच चुकी इस ब्रिटिश-भारतीय एक्ट्रेस और मॉडल का जन्म 16 जुलाई 1984 को  हांगकांग में हुआ था उनके पिता का नाम मोहम्ममद कैफ है व उनकी मां का नाम सुजैन हैा उनकी तीन बड़ी बहनें हैं और तीन छोटी बहनें हैं और एक बड़ा भाई भी हैा माता पिता के तलाक के बाद कैटरीना व उनकी बहने अपनी माँ के साथ ही रहने लगी हवाई में कुछ दिन रहने के बाद कैटरीना इंग्लैंड चली गईं और चौदह वर्ष की आयु में उन्होंने मॉडलिंग शुरू की।

उनके परिवार की स्थि्ति कुछ ऐसी रही कि उन्हेंश एक शहर से दूसरे शहर जाना पड़ता था। यही कारण है कि उनकी ज्यािदातर पढ़ाई ट्यूशन टीचर्स से घर पर ही हुर्इ। कैटरीना ने करियर की शुरूआत मॉडलिंग से तो कर दी थी । पर वो कुछ बड़ा करना चाहती थी। उसी दौरान उन्हें फिल्म  ‘बूम’ में कास्टर किया गया। इस बीच उन्हेंआ कई ब्रांड्स भी एंडोर्स करने को मिले । फिल्मी ‘बूम’ के ना चल पाने के बाद उन्हों ने तेलुगु फिल्म  ‘मल्लीथस्वुरी’ में काम किया । इसके बाद वे फिल्म  ‘सरकार’ में भी दिखाई दीं लेकिन मुख्ये रूप से बड़ा ब्रेक उन्हेंम फिल्म  ‘मैंने प्यानर क्यों  किया’ से मिला जिसमें उनके हीरो सलमान खान थे और सलमान खान ने न केवल उनसे दोस्ती की बल्कि एक अच्छे दोस्त की तरह उनको उनकी कमजोरियों से अवगत करवाया जिससे कैटरिना ने अपनी दो सबसे बड़ी कमजोरियों पर काफी हद तक काबू कर लिया जैसे हिंदी लैंग्वेज को समझना और बोलना व इंडियन हाव् भाव को अपनाना।

उसके बाद तो जैसे कैटरीना के करियर को पंख मिल गए और उन्होंने  अपने करियर में कई निर्णायक भूमिका निभाई और इसकी सफलता का खासा लाभ उन्हें मिला । उन्हें एक के बाद एक बड़ी फिल्में मिलने लगी जैसे  ‘नमस्ते लंदन’ (2007) ने

इसके बाद तो कैटरीना ने अपने (2007), पार्टनर (2007), वेलकम (2007), रेस (2008), सिंह इज़ किंग (2008), अजब प्रेम की गजब कहानी (2009), दे दना दन (2009), राजनीति (2010) ,ज़िंदगी न मिलेगी दोबारा (2011),मेरे ब्रदर की दुल्हन (2011),एक था टाइगर(२०१२), जब तक है जान (2012 ),धूम ३ (2013),बैंग बैंग (2014 ),फैंटम (2015),फितूर और बार बार देखो (2016),जैसी सफल फिल्मों की झड़ी लगाकर बॉलीवुड की अन्य नायिकाओं की नींद उड़ा दी। इन फिल्मों के जरिये उन्हें डेविड धवन, अनिल शर्मा, अब्बास-मस्तान, राजकुमार संतोषी, प्रियदर्शन, प्रकाश झा और अनीस बज्मी जैसे निर्देशकों के साथ काम करने का अवसर मिला, जिन्हें कमर्शियल फिल्म बनाने में महारथ हासिल है। कैटरीना को लकी एक्ट्रेस कहा जाने लगा और फिल्मों में उनकी उपस्थिति सफलता की गारंटी मानी जाने लगी। कैटरीना को बॉक्स ऑफिस की क्वीन कहा जाने लगा और आज उनके नाम पर आरंभिक भीड़ जुटती है।

परन्तु इसी बीच इस खुबसूरत एक्ट्रेस का प्यार मे दिल भी टुटा । पर इन्होने कभी हार नहीं मानी अभी बहुत जल्द इनकी “जग्गा जासूस” और “टाइगर ज़िंदा है’ नामक फिल्म में भी दिखाई देंगी।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये