रवि किशन

1 min


हैप्पी बर्थडे रवि किशन

इंडियन एक्टर रविकिशन का जन्म 17 जुलाई 1971 को जौनपुर के उत्तर-प्रदेश में हुआ था।इनके पिता का नाम श्यामा नारायण शुक्ल और माँ का नाम जदवती देवी है। वो इनके चार बड़े भाई बहिन हैं जिनमे ये सबसे छोटे हैं। अभिनेता रवि किशन की शादी प्रीति से हुई है।  उनकी तीन बेटियां तनिष्क,इशिता और रेवा और एक बेटा शक्षम है।

रविकिशन भोजपुरी के बहुत ही उम्दा कलाकार हैं।  हालांकि लोग अभी भी भोजपुरी सिनेमा को ज्यादा तवज्जो नहीं देते हैं।  जिसके लिए रवि किशन जी-तोड़ कोशिश में हैं कि और कॉलीवुड-टॉलीवुड की तरह भोजपुरी सिनेमा को भी एक अच्छी पहचान मिले। रवि किशन ने अपने करियर की शुरुआत में बहुत दुःख झेले वो अपनी माँ से सिर्फ 500 रूपए लेकर घर से भागकर मुंबई तो आ गए थे, लेकिन मायानगरी में उनको चंद दोस्तों के अलावा और कोई जानने वाला नहीं था। आंखों में सपने लिए रवि कई प्रोडक्शन हाउस के चक्कर काटते रहे, लेकिन बात नहीं बनी। इस दौरान उन्होंने मुंबई में कई छोटे-मोटे काम भी किए, जिससे वे कुछ पैसे जुटा सकें। साल 1993 में आई फिल्म ‘रानी और महारानी’ में उन्हें बतौर लीड एक्टर काम मिल गया, लेकिन यह सी ग्रेड फिल्म थी। इस फिल्म से न तो रवि किशन को फायदा हुआ न इसके निर्माताओं को। इसके बाद वर्ष 1994 में रवि ने ‘आग और चिंगारी’ और ‘उधार की जिंदगी’ में भी छोटे-छोटे रोल किए। रवि किशन को छोटी-छोटी भूमिकाएं मिलने लगी, लेकिन पहचान नहीं मिल सकी।

उसके बाद 1997 में आए संजय खान के टीवी सीरियल ‘जय हनुमान’ में श्रीकृष्ण की भूमिका से रवि किशन को इंडस्ट्री ने पहचानना शुरु किया। इस सीरियल के शुरुआती एपिसोड्स में इरफान खान भी काम कर चुके हैं। इसके बाद रवि को ‘हमारा फैसला’, ‘कुदरत’, ‘कीमत’, ‘आया तूफ़ान’ और ‘500 का नोट’ में छोटी-छोटी भूमिकाएं करने का मौका मिला। रवि धीरे-धीरे अपनी पहचान इंडस्ट्री में बनाते जा रहे थे। हालांकि, उन्हें बॉलीवुड में असली पहचान सलमान खान स्टारर फिल्म ‘तेरे नाम’ में निभाई गई पंडित की भूमिका से मिली।

रवि किशन ने साल 2007 में आई ‘स्पाइडर मैन 3’ में स्पाइडर मैन के किरदार को अपनी आवाज दी थी। इस फिल्म के भोजपुरी संस्करण में जब रवि की वॉयस स्पाइडर मैन के रूप में पर्दे पर सुनाई दी तो दर्शक उत्साह के चलते सिनेमाहाल की ओर खिंचे चले आए। ‘स्पाइडर मैन 3’ ने भोजपुरी सिने प्रेमियों के बीच रवि की लोकप्रियता के चलते बढिय़ा बिजनेस किया। रवि किशन हाल ही में बॉलीवुड फिल्म ‘मिस टनकपुर हाजिर हो’ में नजर आए थे।

इसके अलावा रवि किशन ने 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर उत्तर प्रदेश के जौनपुर से लोकसभा चुनाव भी लड़ चुके हैं। तब उनका कहना था कि वह राजनीति नहीं, बल्कि काम करने के लिए चुनाव मैदान में कूदे हैं। रवि ने कहा था कि वह सियासत को नहीं जानना चाहते, क्योंकि अगर वह इसे जान गये तो खत्म हो जाएंगे। शायद उनकी बड़ी-बड़ी बातें ग्रामीणों के दिमाग में नहीं बैठी और वे अपने ही गृहक्षेत्र से बुरी तरह चुनाव हार गए। अभी भी ये साउथ और तमिल की कई फिल्मे कर रहे हैं ।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये