निखिल आडवाणी

1 min


हैप्पी बर्थडे निखिल आडवाणी

बॉलीवुड के मशहूर फिल्म प्रोड्यूसर, डायरेक्टर और सस्क्रीन राइटर निखिल आडवाणी का जन्म 28 अप्रैल 1971 को मुंबई में हुआ था।  उनके पिता का फार्मा द्वाइयोँ का बिजनेस हैं और उनकी माँ एक एडवरटाइजिंग प्रोफेशनल हैं।  उनके पिता सिंधीं हैं और उनकी मराठी। उन्होंने अपनी शुरूआती पढ़ाई ग्रीन लॉन हाईस्कूल ब्रीच कैंडी से की है और सैत्न जेवियर कॉलेज से केमिस्ट्री में मास्टर्स की डिग्री ली है । अगर निखिल की पर्सनल लाइफ की बात की जाए तो ये ऐनऐन सिप्पी के परपोते हैं।  और एकता कपूर और तुषार कपूर के कजिन भाई हैं।इसके अलावा निखिल की शादी उनकी दोस्त सुपर्णा गुप्ता से हुई है। उनकी एक बेटी है जिसका नाम किया।

निखिल आडवाणी ने अपने करियर की शुरुआत सईद और अज़ीज़ मिर्जा के साथ फिल्म “नया नुक्कड़” से बतौर निर्देशक की थी।  उसके बाद उन्होंने सुधीर मिश्रा को फिल्म “सुबह नई” में असिस्ट किया।  उसके बाद वह धर्मा प्रोडक्शन के तहत करण जौहर के पिता को असिस्ट करने लगे।  आडवाणी ने करण के साथ बतौर सहायक निर्देशक फिल्म “कुछ कुछ होता है” और फिल्म “कभी खशी कभी गम” में भी काम किया था।  इसके बाद उन्होंने आदित्य चोपड़ा को फिल्म “मोहब्बतें” में भी असिस्ट कर चुकें हैं।

उन्होंने अपने करियर की शुरुआत साल 2003 में बतौर निर्देशक फिल्म “कल हो ना हो” से की थी। यह फिल्म उस साल की सबसे बेहतरीन फिल्म साबित हुई थी। उसके बाद उन्होंने एक मल्टी-स्टारर फिल्म “सलामे-इश्क” निर्देशित की।  इस फिल्म ने बॉक्स-ऑफिस पर ठीक-ठाक कमाई की थी। उसके बाद उन्होंने चांदनी चौक तो चाइना और पटियाला हाउस जैसी फिल्मों का निर्माण किया।  इन फिल्मों ने बॉक्स-ऑफिस पर ठीक-ठाक कमाई की, लेकिन दर्शकों की ज्यादा भीड़ को सिनेमाघरों में नहीं जुटा सकीं। इसके अल्वा हम आपको बता दें की आडवाणी ने फिल्म पटियाला हाउस का निर्माण अपने होम प्रोडक्शन “इममे मोशन पिक्चर्स प्रोडक्शन कंपनी” के तहत किया था।  उन्होंने अपने प्रोडक्शन के तहत फिल्म डी-डे का निर्माण किया, जो सफल तो नहीं हुई लेकिन आलोचकों ने फिल्म को बेहद सराहा था।  उसके बाद निखिल ने कई फिल्मे की जैसे (2015 ) हीरो, (2015 ) कट्टी बट्टी, (2016 ) एयरलिफ्ट, (2016 ) गुड्डू इंजीनियर आदि है व अब इनकी अपकमिंग फिल्म लखनऊ सेंट्रल है ।

SHARE

Mayapuri