उन्नीस वर्ष की हुई‘ दिल वाले दुल्हनीया ले जायेंगे’

1 min


यशराज बैनर की फिल्म दिल वाले दुल्हनीया ले जायेगेंने बीस साल तक लगातार चलते रहने का विश्व रिकार्ड बनाया है । मुबंई के मराठा मंदिर सिनेमा पर ये फिल्म पिछले बीस साल से चल रही है । और उसके अभी तक एक हजार शोज़ हो चुके हैं । इस अवसर पर यशराज स्टूडियों में फिल्म के हीरो शाहरूख और हीरोइन काजोल सीमित मीडिया से मिलें और उनके साथ दोनों फिल्म से जुड़े संस्मरणों पर ढेर सारी दिलचस्प बातें की । काजोल के पैर में शायद फ्रक्चर हो गया था इसलिये वो स्टिक के सहारे चल रही थी । इस अवसर पर दोनों ने फिल्म सें जुड़ी तथा कुछ निजी बातें मीडिया से शेयर की ।

4

शाहरूख ने स्व. अमरीश पुरी के बारे में कहा कि वे जितने सख्त विलन थे उतने ही नर्म इंसान थे । हम सेट पर हंसी मजाक करते रहते थे लेकिन जैसे ही अमरीश जी आते थे हम फौरन चुप हो जाता थे । इसी तरह फिल्म दीवाना के सेट पर फाइट सीक्वेंस के दैरान उन्होंने अपने कोट की तरफ इशारा करते हुये कहा ओये बटन नहीं टूटना चाहिये । ये बात वे बार बार कह रहे थे फिर भी लड़ते हुये वो बटन टूट गया तो वे अचकचाकर बोले ओये मैने तुझसे कहा था कि बटन नहीं टूटना चाहिये । काजोल ने तो बहुत ही दिलचस्प बात ये बताई कि उसकी बेटी तो उसकी रोने धोने वाली फिल्में पंसद ही करती । उसका कहना है कि अगर फिल्में करनी है तो पापा अजय देवगन जैसी करो । यशराज के बाद ये जोड़ा मराठी मंदिर भी गई ।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये