तिग्मांशु धूलिया

1 min


हैप्पी बर्थडे तिग्मांशु धूलिया

बॉलीवुड एक्टर,डायरेक्टर और प्रोडूसर तिग्मांशु धूलिया का जन्म 3 जुलाई 1976 को उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद मे हुआ था। उनका परिवार मूल रूप से उत्तराखंड के पौङी जिले के मदनपुर गाँव से है। उनके पिता स्व. केशव चन्द्र धूलिया हाईकोर्ट के जज थे और माता श्रीमती सुमित्रा धूलिया संस्कृत की प्रोफ़ेसर थीं। तिग्मांशु धूलिया ने अपनी प्रारम्भिक पढाई सेंट जोसेफ स्कूल और एंग्लो बंगाली इण्टरमिडियेट कालेज से की। इलाहाबाद विश्वविद्यालय से उन्होने अंग्रेजी, अर्थशास्त्र और आधुनिक इतिहास मे स्नातक की पढाई पूरी की। इसके बाद उन्होने राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय से रंगमंच मे पोस्ट ग्रेजुएशन किया।इनकी शादी इनके स्कूल टाइम से गर्लफ्रेंड रही तूलिका धूलिआ से 1989 में हुई ।

तिग्मांशु ने1994 मे फिल्म ‘बैंडिट क्वीन’ मे बतौर कास्टिंग डायरेक्टर अपने फिल्मी सफर की शुरुआत की। उन्होने इस फिल्म मे संवाद भी लिखे। इन्होने मणिरत्नम निर्देशित फिल्म ‘दिल से’ की पटकथा भी लिखी। वर्ष 2000 मे आयी ‘आसिफ कपाङिया’ निर्देशित फिल्म ‘द वारियर’ मे भी उन्होने कास्टिंग का काम किया। उन्होने ‘स्टिफ अपर लिप्स’ (1998) और ‘बाम्बे ब्ल्यूज'(1994) मे भी कास्टिंग की।

उसके बाद तिग्मांशु ने निर्देशक के रूप मे अपना कैरियर वर्ष 2003 में फिल्म ‘हासिल’ के साथ शुरु किया। इस फिल्म के लिए अभिनेता इरफ़ान खान फिल्मफेयर का नकारात्मक भूमिका मे सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कर मिला।2004 मे उन्होने इरफ़ान खान, जिमी शेरगिल और उदय चोपड़ा को लेकर चरसः ए ज्वाइण्ट ऑपरेशन निर्देशित की। 2011 मे तिग्मांशु निर्देशित दो फिल्मे प्रदर्शित हुईः शागिर्द और साहब बीबी और गैंगस्टर। वर्ष 2012  मे धूलिया निर्देशित फिल्म पान सिंह तोमर प्रदर्शित हुई। यह एक बायोपिक थी। यह फिल्म चंबल के बाग़ी बने पान सिंह तोमर, जो बाधा दौङ मे 7  बार का राष्ट्रीय रिकार्डधारी था, के जीवन पर आधारित थी। बैंडिट क्वीन करते समय ही तिग्मांशु ने पान सिंह के बारे मे सुना था। इस फिल्म मे इरफ़ान खान मुख्य भूमिका मे थे। इस फिल्म के निर्देशन के लिये तिग्मांशु की खासी सराहना हुई। इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर भी अच्छा प्रदर्शन किया।

 धूलिया जितने अच्छे निर्देशक हैं उतने ही अच्छे अभिनेता भी हैं।  तिग्मांशु ने बतौर अभिनेता अपने करियर की शुरुआत अनुराग कश्यप निर्देशित फिल्म गैंग्स ऑफ़ वासेपुर-भाग1 से की। वह इस  भागों में नजर आये थे। उन्होंने इस फिल्म मे   रामाधीर सिंह का किरदार निभाया। इस किरदार के लिए धूलिया को निर्देशक की सराहना भी मिली। अनुराग कश्यप के अनुसार,”तिग्मांशु हमेशा से ही अच्छे अभिनेता रहे हैं”। नीरज अडवाणी निर्देशित फिल्म हीरो में वह अथिया शेट्टी के पिता व् आईजी की भूमिका में नजर आ रहें हैं। इनकी ऐज़ आन  एक्टर फिल्मस हैं इलेक्ट्रिक मून (1992),साहेब बीवी और गैंगस्टर (2011),गैंग्स ऑफ़ वास्सेय्पुर (2012) पार्ट 1 और 2,और शहीद (2013) आदि  । इनकी आकृ फिल्म 2015 में आई ‘हीरो’ थी जो फ्लॉप रही व अब 2017  में इनकी आनेवाली फिल्म का नाम “रागद्वेष” है।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये