रणवीर सिंह

1 min


हैप्पी बर्थडे रणवीर सिंह

बॉलीवुड के बाजीराव यानि रणवीर सिंह का जन्म भवनानी मे 6 जुलाई 1985  मे हुआ ।रणवीर सिंह का पूरा नाम है “क्योकि उनके अनुसार यह सरनेम उनके नाम के साथ काफी लम्बा पड़ता है जिसकी वजह से चीजे थोड़ी असहज हो जाती है और अगर इतना लम्बा नाम वो रखते है तो परेशानी यह कि उन्हें बॉलीवुड में एक ब्रांड की तरह कम अहमियत मिलती और इसके अलावा भी कई सारी वजह है जिसकी वजह से “रणवीर सिंह” मुझे अधिक सूट करता है | आपको एक खास बात बता दें कि रणवीर सिंह एक्ट्रेस सोनम कपूर के ही मौसी के बेटे है क्योंकि सोनम कपूर की माँ का सरनेम भी शादी से पहले भवनानी था | रणवीर सिंह भवनानी “ है

  रणबीर की आँखों ने हमेशा से एक ही सपना बूना वो था एक्टर बनने का पर एक समय शायद उन्हें अपने ऊपर से विश्वास ही उठ गया और उन्होंने अपना रुख लेखन की तरफ कर लिया पर इनके सपनो ने फिर अंगड़ाई लेनी शुरू की जब वे  इंडियाना युनिवर्सिटी, ब्लूमिंगटन से बैचलर ऑफ आर्ट्स की डिग्री कर रहे थे तब रणबीर पुनः अभिनय की ओर आकर्षित हुए और वापस भारत में आने के बाद उन्होंने मुख्य किरदारों के लिए हिन्दी फ़िल्म उद्योग में ऑडिशन देने शुरू किए।रणबीर सिंह ने एक इंटरव्यू मे कहा था की उनकी कामयाबी की पीछे उनके पिता ने सबसे ज़्यादा उनका साथ दिया।उन दिनों में उनके पिता ने उनका साथ दिया और उनके सपने को पूरे करने के लिए उन्होंने अपने सारे ऐशो आराम और यंहा तक कि अपना घर और कार तक बेच डाली थी |  रणवीर सिंह कहते है कि ऐसे समय में जब वो अपनी जगह बनाने के लिए संघर्ष कर रहे थे ।ईधर  रणवीर ने भी अपना सपना पूरा करने के लिए पूरी मेहनत की अपने करियर के शुरू के दिनों में वो शाद अली के साथ काम किया करते थे जन्हा उन्हें बहुत काम करना पड़ता था और इसी वजह से सेहत के प्रति ध्यान नहीं दे पाने की वजह से उनका वजन बढ़ गया था व  एक्टिंग स्कूल में एडमिशनवन्ही पर उन्होंने अपने हुनर को और भी सुधार और उसमे कुछ जरुरी सुधार किये | वजन कम करने के लिए रणवीर  सिंह   ने अपने खानपान में काफी कुछ बदलाव किये और आज भी वो कार्बोहाइड्रेट से भरपूर भोजन नहीं करते है और सेहत को बनाये रखने के लिए ज्यादा प्रोटीन वाली डाइट को प्रेफर करते है |इस तरह उन्होंने अपने मोटापे से फाइट की ।

इन्होने  अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत “बैंड बाजा बारात” से की जो सुपर हिट रही ।और इस फिल्म  के लिए  रणवीर को अपनी भूमिका के लिए सर्वश्रेष्ठ नए पुरुष अभिनेता के फ़िल्मफेयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया।उसके बाद उनकी कई फिल्में आई जैसे लेडीज वर्सेस  रिकी  बहल,बॉम्बे  टाल्कीस,लूटेरा, गोलियों की  रासलीला  राम -लीला जिसके लिए इन्हे फिल्मफेर  अवार्ड  में  बेस्ट  एक्टर का अवार्ड मिला,गुंडे ,फाइंडिंग फैंनय ,किल  दिल, हेय ब्रो,दिल धड़कने दो,बाजीराव मस्तानी की जो की रणबीर की फ़िल्मी करियर के लिए बहुत लकी रहा जिसके लिए उन्हें फिर बेस्ट एक्टर के अवार्ड से नवाज़ा गया ।रणवीर अपनी हरएक फिल्म के लिए 12-15 करोड़ तक की फीस लेते है | स्वाभाव से चुलबुल रणवीर सिंह स्मोक नहीं करते है और अपने कार के कलेक्शन में उनके पास एक महंगी जगुआर भी शामिल है | साल में केवल एक दो बार दारू पीने वाले रणवीर  सिंह   अपना खाली समय वीडियोज देखते हुए और अपने दोस्तों के बिताना प्रेफर करते है | एक खास बात भी आपको रणवीर सिंह के बारे में बता देते है कि वो पहले ऐसे बॉलीवुड के एक्टर है जिनकी चौथी मूवी (राम-लीला) ने 100 करोड़ के आमदनी को पार कर लिया हो ।उसके बाद उन्होंने कई फिल्मे दी जैसे (2014)गुंडे,(2014 )फाइंडिंग फन्नी,(2014 )किल दिल,(2015 )हे ब्रो,(2015 )दिल धड़कने दो,(2015)बाजिराओ मस्तानी और (2016) में आई इनकी बेफिक्रे और अब 2017 में आने वाली है इनकी “पदमावती “।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये