मूवी रिव्यू: तेज रफ्तार एक्शन थ्रिलर सस्पेंस फिल्म – ‘7 हावर्स टू गो’

1 min


रेटिंग***

कुछ अरसे से अच्छी थ्रिलर फिल्में कम ही आ रही है। सौरभ वर्मा द्धारा निर्देशित फिल्म ‘7 हावर्स टू गो’ में वो सब हैं जो एक एक्शन थ्रिलर सस्पेंस फिल्म में होना चाहिये ।

कहानी

शिव पंडित अपने आपको कानपूर का सस्पेंड पुलिस ऑफिसर बताता है। एक केस के चक्कर में वो कोर्ट आता है जंहा उसकी प्रेमिका माया का खून हो जाता है। इसके बाद वो कोर्ट में ही सात लोगों को कवर कर मुबंई की तेज तर्रार एसीपी शुक्ला यानि संदीपा धर को बुलाकर महज सात घंटे में असली अपराधी को मुबंई कमिश्नर से पकड़ने का आदेश देता है। जबकि इस केस पर पहले से एक अलमस्त एसीपी पुलिस अधिकारी वरूण बडोला भी है लेकिन अब उसे शुक्ला की मदद करने का आदेश दिया जाता है। इसके बाद हैरान कर देने वाले टर्न एन ट्वीस्ट शुरू होते हैं जिन्हें देख दर्शक एक हद तक हैरान हुये बिना नहीं रहता ।

Sandeepa Dhar_Movie Review

निर्देशन, अभिनय, संगीत

फिल्म की कसी हुई पटकथा, लुभावनी लोकेशंस चुटीले संवाद और बढ़िया एक्शन तथा तेज रफ्तार फिल्म से दर्शक शुरू से अंत तक जुड़ा रहता है। निर्देशन ने एक पल भी फिल्म को अपने आप से बाहर नहीं होने दिया। टीवी से फिल्मों में कदम रखने वाले शिव पंडित पहली बार प्रभावशाली लगे। उसके अलावा संदीपा धर पुलिस ऑफिसर के तौर पर मेहनत करती दिखाई दी हैं लेकिन वे अपनी बॉडी लैंग्वेज से पुलिस ऑफिसर नहीं लगती। बेशक उसने एक्शन में काफी मेहनत की है। वरूण बडोला एक मस्त पुलिस अधिकारी के तौर पर चुटीले संवादों के तहत दर्शको का अच्छा मनोरजंन करते हैं। उनके अलावा विपिन शर्मा समेत कुछ अन्य कलाकार भी फिल्म में अपनी उपस्थिति दर्ज करवाने में सफल साबित हुये हैं । फिल्म का बैंकग्राउंड संगीत फिल्म को और प्रभावशाली बनाता है ।

क्यों देखें

एक्शन, थ्रिलर और सस्पेंस फिल्में पसंद करने वाले दर्शकों के लिये फिल्म में मनोरजंन के सभी मसाले मौजूद हैं।

 

SHARE

Mayapuri