पंकज त्रिपाठी के वो सात डायलॉगस जिन्हें आप कभी नहीं भूल पाएंगे

1 min


अभिनय हर किसी के हाथों में नहीं होता और भाषण की शक्ति हमें जीवन में एक विशेष भावना लाने और उड़ान भरने में मदद करती है। मसान अभिनेता पंकज त्रिपाठी, न केवल अपने विस्मयकारी प्रदर्शनों के लिए जाने जाते हैं, बल्कि उनके हास्य समय और शानदार डायलॉग के लिए भी जाने जाते हैं। न्यूटन में अपने रहस्यमय प्रदर्शन के लिए उन्हें राष्ट्रीय पुरस्कार भी जीत लिया यह है पंकज के वो सात डायलॉग जो उन्हें हर सितारे से अलग बनता है और जिससे उन्होंने दर्शकों के दिलों में अपनी जगह बनाई है

1.गैंग ऑफ़ वास्सेपुर: यह वास्सेपुर है यहाँ कबूतर एक पंख से उड़ता है और एक पंख से अपनी इज्ज़त बचाता है

2.न्यूटन: रूल्स रूल्स करते रहते है बेसिक रूल भूल गए एडिशन के पहले डिवीजन होता है 

3.मसान: हमारे पिताजी कहते है जो खीर नहीं खाया वो मनुष्य योनी में पैदा होने का पूरा फायदा नहीं उठाया 

4.न्यूटन: वोटिंग मशीन एक खिलौने जैसा है जो पसंद आए अच्छा लगे वो बटन दबा दो 

5.मसान: देवी जी आपको पता है यहाँ 28 ट्रेने रूकती है और कितनी नहीं रूकती?…64 मतलब यहाँ आना आसान है, यहाँ से जाना मुश्किल 

6.फेमस : सेक्स करते समय आदमी इमोशनल नहीं हो सकता क्या ? 

7.बरेली की बर्फी: अरे वाह! यह तो संडास से लेके सुशीला तक सब दिख रहा है 

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए  www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज Facebook, Twitter और Instagram पर जा सकते हैं.

 

SHARE

Sangya Singh