नीतू सिंह

1 min


हैप्पी बर्थडे नीतू सिंह

हिंदी सिनेमा के 70 के दशक की खूबसूरत एक्ट्रेस में से एक नीतू सिंह का जन्म 8 जुलाई, 1958 को दिल्ली के एक पंजाबी परिवार में हुआ। वह अपने माता-पिता राजी कौर और दर्शन सिंह की इकलौती संतान हैं। जब नीतू 7 साल की थी, उस समय इनके पिता का देहांत हो गया था।नीतू कपूर ने अपनी स्कूलिंग मुंबई के हिल गीरेंज हाई स्कूल से की । महज 14 साल की उम्र में ही नीतू ऋषि कपूर को प्यार करने लगी थी और 5 साल डेट करने के बाद इन्होंने 1980 में एक दूसरे के साथ शादी कर ली।इसी साल बेटी रिद्धिमा और 1982 में बेटे रणबीर कपूर का जन्म हुआ।2006 में रिद्धिमा की शादी दिल्ली के बिजनेसमैन भरत साहनी से हुई। रिद्धिमा ने अपना करियर ज्वैलरी डिजाइनिंग में बनाया और रणबीर ने एक्टिंग में वह बॉलीवुड के एक फेमस एक्टर के रूप में जाने जाते हैं।

नीतू कपूर ने 1966 में महज 8 साल की उम्र में एक चाइल्ड आर्टिस्ट के रूप में फिल्मों में काम करना शुरू किया। उन्होंने फिल्म ‘सूरज” और ‘दस लाख”में चाइल्ड आर्टिस्ट के तौर पर काम किया। इसके बाद नीतू सिंह ने फिल्म ‘दो कलियां’में दोहरी भूमिका भी निभाई। 1973 में फिल्म ‘यादों की बारात’में नीतू ने एक छोटा सा रोल किया। फिल्म में उनका गाना ‘लेकर हम’ बेहद हिट रहा। इस गाने के बाद नीतू को कई फिल्मों में लीड एक्ट्रेस के रूप में ऑफर मिलने शुरू हो गए नीतू ने 1983 में फिल्म ‘गंगा मेरी मां’ के बाद शादी की वजह से कुछ समय तक बॉलीवुड से ब्रेक ले लिया। नीतू कपूर ने अपने फिल्मी करियर में 70 से ज्यादा फिल्में की जिसमें 12 फिल्मों में इन्होंने अपने पति ऋषि कपूर के साथ काम किया।रिक्शेवाला (1972), जहरीला इंसान (1974), रफ्फू चक्कर (1975), जिंदा दिल (1975), खेल खेल में (1975), कभी कभी (1976), अमर अकबर एंथनी (1977), अन्जानें में (1978), पति पत्नी और वो (1978), दूसरा आदमी (1979), दुनिया मेरी जेब में (1979), धन दौलत (1980),नीतू ने 2009 में फिल्म ‘लव आज कल’ से कमबैक किया। इसके बाद इन्होंने फिल्म ‘दो दूनी चार’ (2010), ‘जब तक है जान’ (2012), ‘बेशर्म’ (2013) और ‘ऑल इज वेल’ (2015) में बेहतरीन अभिनय किया।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये