यंगस्टर्स को जरूर देखनी चाहिए ये फिल्में

1 min


भारतीय सिनेमा में जो फिल्में बनती हैं वो कहीं न कहीं समाज का आईना होती है और इन फिल्मों में डांस, एक्टिंग, रोमांस आदि सब कुछ होता है, लेकिन कुछ ऐसी फिल्में भी होती हैं जो हमें बहुत कुछ सीखाती है और हमें हमारी जिंदगी के अंदर झांकने पर मजबूर कर देती हैं। हम आखिर क्या कर रहे हैं और हमने अभी तक क्या हासिल किया है ऐसे कई सवाल हमारे मन में खड़े करती हैं। यूं तो बॉलीवुड में हर फिल्म एक अलग ही कहानी बयां करती है और एक अलग ही संदेश देती हैं कई फिल्में एक विशेष आयुवर्ग को ध्यान में रखकर बनाई जाती है। हम ऐसी ही फिल्मों के बारे मे आपको बताने जा रहे हैं जो यूथ के लिए कई मायनों में बेहद खास है और उन्हें ये फिल्में एक बार जरूर देखनी चाहिए..

15IN_LPN_RDB_2061349f

रंग दे बसंती

20 वर्ष और उसके आस पास का आयु वर्ग एक ऐसा वर्ग होता है जिसमें दिमाग कई बार अस्स्थिरता के दौर से गुजरता हैं और गुस्सा भी हमेशा नाक पर बैठा रहता हैं और हम लगभग हर किसी चीज के लिए सिस्टम को दोषी ठहराना शुरू कर देते हैं लेकिन सवाल ये है कि आखिर हम खुद क्या करते हैं सिर्फ सिस्टम को कोसने की बजाय कुछ भी नहीं। ‘ रंग दे बसंती’ सार्वजनिक हित के मामलों पर सक्रियता बढ़ाने का एक माहौल बनाने की कोशिश करती है साथ ही युवाओं को खुली चुनौती देती हैं कि क्या हम खुद से सिस्टम को सुधारने की कोशिश करेंगे या सिर्फ खामियां ही निकालते रहेंगे।

3-Idiots

3 इटियट्स

सक्सेस के पीछे मत भागो बच्चा काबिल बनो काबिल कामयाबी तो साली झक मारके तुम्हारे पीछे आयेगी। इज्यूकेशन सिस्टम को केंद्र में रखकर बनाई गई ये फिल्म हर युवा के लिए बेहद खास है। ये जिंदगी जीने का एक तरीका भी सीखाती है। इस फिल्म में भरपूर मनोरंजन भी है और एक अच्छा संदेश भी है कि शिक्षा सिर्फ अच्छे मार्क्स लाना और डिग्री लाना नहीं है बल्कि उससे भी कहीं उपर हैं। गंभीर बात को जिस मनोरंजक तरीके से फिल्म के निर्देशक द्वारा समझाने की कोशिश की गई है वो वाकई काबिल ए तारिफ है।

wpid-ac8nvzfxyvpxw9t8-d-0-kangana-ranaut-movie-queen-still

क्वीन

जब आप जिंदगी से बुरी तरह से हताश और निराश हो चुके होते हैं तो कुछ समझ में नहीं आता कि क्या करें और न करें। लेकिन ये फिल्म एक रास्ता दिखाती है इन सब चीजों से ऊपर उठने का। ये फिल्म एक नई सुबह की तरह है जो आपकी निराशाजनक जिंदगी में एक उम्मीद की किरण जगाती है जिंदगी को लेकर काफी कुछ सीखाती हैं। ये फिल्म इस बात को अच्छे से दर्शाती है कि अगर आप जिंदगी में एक बार हार गए तो इसका मतलब ये कतई नहीं कि आप किसी पर भी विश्वास न करो जिंदगी में और बहुत लोग होते हैं जो आपको जीना सीखाते हैं जिन पर आप भरोसा कर सकते हो जो आपकी जिंदगी का सही मार्गदर्शन करते हैं और सबसे ज्यादा खास बात जो इस फिल्म में है वो है कि जब कोई तो आप खुद ही खुद का सहारा बनो और जिंदगी के हर दिन को भरपूर तरीके से जीयो। लड़कियों के लिए ये फिल्म बेहद खास है।

Bhag Milkha Bhag

भाग मिल्खा भाग

भाग मिल्खा भाग जैसी फिल्में देखने के लिए हमें अपनी आरामदेह जिंदगी से थोड़ा ऊपर उठना होगा और ऐसी कहानियों को समझने के लिए कुछ नया करने और सीखने की लगन भी होनी चाहिए। ये हमारी खुद की जिंदगी के लिए कभी कई सवाल खड़े करती है। ये फिल्म एक ऐसे इंसान की कहानी है जो कई तरह के दौर से गुजरा अपने जिंदगी के मकसद को हासिल करने के लिए। ये आपको प्रेरित करती है अपनी जिंदगी के मकसद को पूरा करने के लिए और हर काम में सौ प्रतिशत देने के लिए।

iqbal7_10x7

इकबाल

अपनी मजबूरियों के आगे घुटने टेकना ही जिंदगी की सबसे बड़ी हार है और इससे बड़ी कोई जीत नहीं हो सकती है कि हन उनपर काबू पा लें। अविश्वसनीय आत्म विश्वास और इच्छा शक्ति की ये कहानी बताती है हमारी असली प्रेरणा हमारे अंदर ही है और अगर हमने उपनी खुद की ताकत को पहचान लिया तो फिर हमें आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता। वाकई ये फिल्म हमें काफी कुछ सीखाती है और हमें सोचने पर मजबूर करती है।

Rockstar film wallpaper

रॉकस्टार

अगर आप 20 से लेकर 25 के एज ग्रुप के हैं तो बखूबी जानते होंगे कि प्यार और दर्द को बयां करने का सबसे अच्छा तरीका म्यूजिक के अलावा कुछ और नहीं हो सकता। रॉकस्टार एक प्रतिभाशाली सिंग के जीवन के संघर्ष को दर्शाती है साथ ही एक ऐसे व्यक्ति की कहानी जो अपने टूटे हुए दिल के लिए शांति का रास्ता ढूंढ़ता है। इस फिल्म से आज का यंगस्टर एक अलग ही जुड़ाव महसूस करेगा। वो भी अपनी जिंदगी में एक न एक बार इसी तरह के दर्द से गुजरा होगा। लेकिन उस दर्द से ऊपर उठने की जरूरत है ताकि हम अपनी जिंदगी में कुछ अच्छा कर सकें। ये फिल्म आज के यूथ को एक न एक बार अपने जीवन में जरूर देखनी चाहिए।

Chak_De_India_2007

चक दे इंडिया

खूबसूरती स्क्रिप्ट देशभक्ति से परिपूर्ण ये फिल्म किसी को भी अपनी जिंदगी में मिस नहीं करना चाहिए। ये फिल्म हमें काफी कुछ सीखाती है। फिल्म, धार्मिकता और क्षेत्रीयता उपर उठना सीखाती है साथ ही टीम की एकजुटता को भी दर्शाती है। बताती है कि एक दूसरे के आपसी मतभेद और हर रह के अंतरों को भुलाकर एक टीम की तरह कैसे खेलना है और कैसे जीत हासिल करनी है। इन फिल्म के संवाद एक अलग ही जोश और उमंग उत्पन्न करते हैं। जैसे कि “ जाओ और ये सत्तर मिनट जी भरकर खेलो ये सत्तर मिनट खुदा भी तुमसे वापस नहीं मांग सकता।

413425817Wake-Up-Sid

वेक अप सिड

हम अपनी जिंदगी में क्या करना चाहते है और कहां स्टैंड करते हैं और हमारे जीवन का लक्ष्य क्या है और जिंदगी में जो हमने खुद के लिए चुना क्या हम उससे संतुष्ट हैं इस तरह के कई सवाल हमारे दिमाग में अचानक ही दौड़ने के लिए लगते जब अपनी जिंदगी में खुद के बारे में गंभीरता से सोचते हैं औ जब हम अपनी जिंदगी के कुछ अंतिम फैसलों को बदलने में खुद को असक्षम पाते हैं। लेकिन ये फिल्म बताती है कि उन फैसलों को किस तरह से बदला जाए साथ ही कई महत्व पूर्ण चीजों का एहसास भी कराती है।

zindagi-ne-milegi-dobara

जिंदगी न मिलेगी दोबारा

25 साल की उम्र एक ऐसी उम्र होती है जब आप जिंदगी के बारे में काफी कुछ जान चुके है और दुनिया के बारे में काफी समझ भी रखते हैं लेकिन सवाल ये हैं कि आपने अभी तक वास्तव में क्या देखा है? क्या कभी कुछ ऐसा किया सब कुछ छोड़कर अपना मोबाइल फोन बंद कर के एक यात्रा पर निकल पड़े। नहीं इन सबका का ख्याल जब हमारे दिमाग में जब जिंदगी शायद हमें छोड़ चुकी होगी। ये ही एक गंभीर समस्या है। हमें जीवन सिर्फ एक बार मिलता है लेकिन जिस तरह की जिदंगी में व्यतीत करते हैं उससे हम रोज निराश ही महसूस करते हैं। क्या पता यही एक सही समय हो कुछ नया तलाशने का क्योंकि इंसान को डिब्बे में सिर्फ तब होना चाहिए जब वो मर चुका हो।

 

 

 

 

 


Like it? Share with your friends!

Pankaj Namdev

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये