मैं यकीन के साथ कह सकता हूं कि आप लोगों को बहुत मजा आएगा- अभिनव ठाकुर डायरेक्टर, यह सुहागरात इम्पॉसिबल

1 min


Abhinav-Thakur

डायरेक्टर अभिनव ठाकुर अब तक 25 शॉर्ट फिल्में बना चुके हैं और इनकी सभी फिल्में किसी न किसी सामाजिक मुद्दे पर आधारित होती हैं। अभिनव का कहना है कि वो आगे भी ऐसी ही फिल्में बनाते रहेंगे। तो आइए उन्हीं से जानते हैं कि उनकी फिल्म ‘यह सुहागरात इम्पॉसिबल’ किस मुद्दे पर आधारित है और इस फिल्म से लोगों की सोच में क्या बदलाव आएगा….

आपको क्या लगता है कि आपकी इस फिल्म से लोगों की सोच बदलेगी ?

जी बिल्कुल मुझे और मेरी टीम को लगता है इस फिल्म को देखने के बाद  लोगों का नजरिया शादी के लिए बदल जाएगा।

आपके मन में इस कहानी का ख्याल कैसे आया, आपको क्यों लगा की इस मुद्दे पर फिल्म बनानी चाहिए ? या फिर अपने किसी अनुभव से प्रेरित होकर आपने ये फिल्म बनाने की सोची?

मैंने एक बुक पढ़ी थी नमक स्वाद अनुसार और उस बुक में एक स्टोरी थी सुहागरात वही से मुझे यह आइडिया आया क्योंकि लोगों ने शादी के बारे में बहुत फिल्में देख चुके हैं मगर सुहागरात पर पहली बार मूवी आ रही है मुझे यह फिल्म करना था क्योंकि अपने यहां कुछ लोगों में शादी को लेकर गलत धारणा है और इस फिल्म को दिखाने के बाद शायद उनकी सोच में बदलाव आएगा।

फिल्म के टाइटल से लोगों के मन में कुछ और सोच आती है, लेकिन कहानी टाइटल से अलग है…

जी हां आप सही बोल रहे हैं मूवी के टाइटल से काफी लोग कुछ और सोच रहे हैं मगर उनको कुछ और मिल रहा है परंतु आप यकीन मानिए वह सोच रहे हैं मूवी के टाइटल से उनको वो भी मिलेगा मगर उनको 8 मार्च को सिनेमा हॉल में देखना होगा।

फिल्म की कहानी को आपने यूपी और बिहार की पृष्ठभूमि से जोड़कर ही क्यों बनाया, क्या दिल्ली, मुंबई जैसे बड़े शहरों में ऐसा नहीं होता?

सर यह कहानी केवल यूपी और बिहार की नहीं है मैं जिस टॉपिक या फिर सब्जेक्ट पर मूवी बनाई है ये हर जगह और हां सोसाइटी में होता है मगर यह मसला ज्यादा अपने रूलर एरिया में है तो मैंने यूपी और बिहार को इसलिए सिलेक्ट किया है और मुंबई और दिल्ली का इशू तो है मगर उतना नहीं है जितना अपने रूलर एरिया में होता क्योंकि आज भी वहां शादी के कुछ अलग ही तरीके हैं।

आपने ऐसे मुद्दे पर कॉमेडी फिल्म क्यों बनाई ?

मैंने बचपन से एक चीज सीखी है जो बात और जो सीख लोगों को प्यार और एक हंसी के साथ सीखा सकते हो वह चीज आप एक गंभीर तरीके से नहीं बता सकते हो । अगर आप इस गंभीर तरीके से बता सकते हो मगर उन्हें सीखा नहीं सकते हो और मेरी मूवी एक पूरी फैमिली के साथ देखने वाली मूवी है और मैं यकीन के साथ कह सकता हूं कि आप लोगों को बहुत मजा आएगा और हमारे सारे कलाकारों ने बहुत अच्छा काम किया है

फिल्म की कहानी गंभीर मुद्दे पर है, लेकिन आपकी फिल्म एक कॉमेडी फिल्म है, आपको क्या लगता है कॉमेडी फिल्म को लोग गंभीरता से लेंगे ?

जी बिल्कुल लगेगा क्योंकि इतने सारे ट्विस्ट हैं इस मूवी में लर्निंग लैसन भी मिलेंगे उनको ऑडियंस ऑटोमेटिक मैसेज कनवे कर लेगी इस फिल्म के माध्यम से।

आप इससे पहले भी फिल्म बना चुके हैं या फिर ये आपकी पहली फिल्म है और उसके बाद आपका अगला प्रोजेक्ट क्या होगा ?

इससे पहले मैं काफी सारी शॉर्ट फिल्म बना चुका हूं और यह मेरी पहली फुल लेंथ मूवी है और एक सही टाइम आने पर मेरी आने वाली मूवी के बारे में भी आप लोग जान लोगे बहुत जल्द।

आप अब तक 25 शॉर्ट फिल्में बना चुकें है, क्या आपकी सभी फिल्में किसी न किसी मुद्दे या विषय पर आधारित होती है?

जी बिल्कुल मेरी सारी फिल्म किसी ना किसी सब्जेक्ट और मुद्दे पर हैं और मैं इसे आगे भी जारी रखना चाहूंगा।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए  www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये