लॉकडाउन के बीच दिल्ली निजामुद्दीन मामले पर एक्टर नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने कहा – फर्क नहीं पड़ता कि आप कौन हैं, किस धर्म को मानते है

1 min


नवाजुद्दीन सिद्दीकी

दिल्ली निजामुद्दीन मामले पर एक्टर नवाजुद्दीन सिद्दीकी का विचार बोले- ‘ ऐसा करने से कई जिंदगियां खतरे में पड़ रही है’

कोरोनावायरस से एक तरफ जहां लोगों के मरने की संख्या हर दिन बढ़ती जा रही है। सरकार की ओर से 21 दिनों के लिए पूरे भारत को लॉकडाउन किया गया। ऐसे में किसी को भी बेवजह घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं है।ऐसे में दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के मरकज में कोरोना संक्रमितों के मिलने से पूरे देश में हल्ला मच गया है। यहां मिले 24 लोग संक्रमित पाए गए हैं जबकि 441 संदिग्धों को अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। मरकज में शामिल लोग उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल सहित देश के कई राज्यों में पहुंच चुके हैं। प्रशासन इनकी तलाश में जुटा है, ताकि इन्हें तुरंत क्वारंटीन किया जा सके। ऐसी लापरवाही पर कई तरह के सवाल खड़े हो रहे है। ऐसी बीच बॉलीवुड एक्टर नवाजुद्दीन सिद्दीकी(nawazuddin siddiqui) अपने विचार सामने रखे है।

लॉकडाउन तो इसका मतलब लॉकडाउन

नवाजुद्दीन सिद्दीकी

Source – Hindustantimes

बॉलीवुड एक्टर नवाजुद्दीन सिद्दीकी(nawazuddinsiddiqui) एक निजी चैनल से बातचीत में निजामुद्दीन पर मचे बवाल को लेकर अपना विचार रखा। उन्होंने कहा,ऐसा करने से कई जिंदगियां खतरे में पड़ रही हैं। ‘अगर सरकार ने कहा है लॉकडाउन तो इसका मतलब लॉकडाउन। इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि आप कौन हैं, किस धर्म को मानते हैं। ऐसा न करने से आप अपनी जिंदगी से तो खिलवाड़ कर ही रहे हैं और बहुत सारी जिंदगियों को भी खतरे में डाल रहे हैं।’

गृह मंत्रालय ने दी जानकारी

नवाजुद्दीन सिद्दीकी

Source – Ndtv

गृह मंत्रालय ने जानकारी दी है कि 21 मार्च तक, हजरत निजामुद्दीन मरकज में लगभग 1,746 लोग रहे थे। इनमें से 216 विदेशी और 1530 भारतीय थे। इसके अतिरिक्त लगभग 824 विदेशी 21 मार्च को देश के विभिन्न हिस्सों में तबलीग गतिविधियां कर रहे थे।

तमिलनाडु की स्वास्थ्य सचिव बीला राजेश ने जानकार दी है कि तमिलनाडु के 45 लोग जो दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में शामिल हुए थे, उनके कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। वहीं विशाखापट्टनम में भी कोरोनो वायरस के चार नए मामलों की पुष्टि हुई है। प्रशासन ने बताया है कि ये चारों लोग निजामुद्दीन मरकज में शामिल हुए थे।

निर्देशों के उल्लंघन करने पर केस भी दर्ज

नवाजुद्दीन सिद्दीकी

Source – Economicstimes

दिल्ली पुलिस आयुक्त ने जानकारी दी है कि मौलाना साद और तबलीगी जमात के अन्य के खिलाफ महामारी रोग अधिनियम 1897 और आईपीसी की अन्य धाराओं के अंतर्गत सरकारी निर्देशों के उल्लंघन का मामला दर्ज किया गया है।

ये भी पढ़ें– कंगना रनौत ने बताया, 16 साल की ही उम्र में कैसे बन गईं थीं ड्रग एडिक्ट ?


Like it? Share with your friends!

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये