सितारों की जुबानी ई-फ्रॉड की कहानी

1 min


e-fraud

शरद राय

जमाना ऑनलाइन का है। हरदिन हम किस्से सुनते हैं कि अमुक के साथ ऐसे नेट संचालन की तकनीक से फ्रॉड हो गया। ई-फ्रॉड का मामला अब इतना व्यापक हो गया है कि कब किसके साथ घपला हो जाएगा, कहा नही जा सकता। सावधानी हटी दुर्घटना हुई।

आइए सुनते हैं,  ई- फ्रॉड को लेकर हमारे फिल्मी सितारे कितने जागरूक हैं।

akshay kumar

अक्षय कुमार:

मैं एक जागरूक आदमी हूं भाई, हमेशा सतर्क रहता हूं। मैंने लोगों को जागरूक करने वाले ऐसे कई विज्ञापन भी किए हैं। रिज़र्व बैंक, पुलिस और सूचना मंत्रालय ऐसे संदेश जन हित मे जारी करते हैं कि लोग ई फ्रॉड करने वालों से सतर्क रहें।

मेरे एक मित्र का किस्सा है। उनके पास फोन आया कि उनका क्रेडिट कार्ड अपडेट करना है।

इसके लिए कुछ कन्फर्मेशन चाहिए। उनसे पैन कार्ड, आधार कार्ड का डिटेल मांगा गया। वह बताए कि वह समझ गए थे इसलिए फोन करने वाले को डांट दिए और फोन कट कर दिया गया। इस तरह से कितने लोगों को फसाकर डिटेल लिए गए होंगे ! बहुत लोग झांसे में आकर अपना नम्बर वगैरह देकर नुकशान कर लेते हैं।

Raveena Tandon

रवीना टंडन:

मेरे साथ बहुत पहले फ़ोन आता था। तब नेट को लेकर इतनी जानकारी नहीं थी। मैंने इस बारे में मेरे डैड ( मशहूर निर्देशक रवि टंडन) को बताया और वह बैंक जाकर पता किए तो पता चला कि वहां से ऐसी कोई जानकारी फ़ोन पर नहीं मांगी जाती है। क्लब के बहाने से फ्रॉड करने वाले आपका नम्बर वगैरह मांगते हैं, सावधान रहिए।

DuttaDivya

दिव्या दत्ता:

एक बार ऑनलाइन साड़ी की खरीददारी में मेरी फ्रेंड फंस गई थी। उसने 2000 रुपये की साड़ी मंगाया था। साड़ी आयी तो लगा यह तो 400 – 600 से ज्यादा कीमत की नही है। कम्प्लेन किया तो रिटर्न लेकर दूसरी बार वे लोग भेजे,मगर जो माल देखकर मंगाया गया था, वो नहीं मिला।

ऐसी चीटिंग के मामले कईबार सुने जाते हैं। इसलिए लोग जो ऑनलाइन की खरीदारी करते हैं ,उनको जानी सुनी कम्पनियों के नाम देख कर ही कुछ मंगाना चाहिए।

arjun

अर्जुन  कपूर:

मुझे तो वेरिफिकेशन करने के लिए फोन कॉल्स बहुत से आए हैं। लेकिन मैं किसी को कभी सीधे ट्रीट ही नही करता। डैड को कोई बना नही सकता और मैं उनको बताए बिना कुछ नही करता। कई बार  पूछते हैं कि आपकी सपब की रकम मेच्योर हो गई है, आपका पॉलिसी नम्बर यह है आपका अकाउंट नम्बर बोलिए । ऐसे बहुत सारे ट्रिक्स अपनाकर आपके नम्बर लेते हैं। लोगों को फोन या ईमेल फ़्रॉड से बचना चाहिए।

shubhangi-atre

शुभांगी अत्रे (टीवी कीअंगूरी भाभी)

फेसबुक रोमांस की फ़्रॉडगिरी के बारे में मैं लड़कियों से कहना चाहूंगी कि ज़रूर सावधान रहें। आजकल मेरे पास समय नही होता और मैं फेसबुक , ट्वीटर, या किसी दूसरे चैटिंग पर नहीं होती।लेकिन जब होती थी तब इतने लोग मुझसे फ्रेंडशिप करना चाहते थे कि मैं पागल हो जाती थी। हर कोई मुझसे मिलने केलिए अपने अंदाज में अपनी विशेषताएं बताता था। ऑनलाइन चैटिंग और डेटिंग के चक्कर मे कई लड़कियां अपनी ज़िंदगी मे ज़हर घोल लेती हैं। कई बार नकली पक और नकली जानकारी देकर लड़कियों को फसाया जाता है। इस ऑनलाइन फ़्रॉड गिरी का शिकार तो लोग रोज़ ही होते रहते हैं।

पुष्पा वर्मा:

आजकल एटीएम कार्ड से पैसे चोरी के तमाम केस सुनाई देते हैं। हमारे एक परिचित के एटीएम से कैसे पैसे कम हो गए उनको पता भी नही चला। वह अपने अकाउंट में 50000 जमा करके आए थे। बाद में उनके अकाउंट से 25000 निकाले जाने का मैसेज आया। वह हैरान थे कि पेमेंट निकली ही नही कुछ दिनों से , फिर निकला कैसे? पैसा एटीएम से निकला था। बैंक ने बताया कि क्लोन कार्ड से पैसा निकाला गया था। निकालने वाले ने सिर पर हेलमेट पहन रखा था। उनका पैसा कहां गया, तफ्तीश जारी है। किंतु कार्ड की क्लोनिंग कैसे हो गई, सोचने वाली बात यह है। किसी की बैंक डिटेल, इन्सुरेंस डिटेल, अकाउंट नम्बर चोरी करके इनदिनों ई-फ्रॉड के केस बहुत सुनने को मिल  रहे हैं। सचमुच बहुत सतर्क रहने की ज़रूरत है।यह ज़माना इंटरनेट हैकर्स का है, कुछ भी हो सकता है। प्लीज़ बी केयरफुल !!


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये