‘ब्रह्मराक्षस 2’ के सेट पर निक्की शर्मा ने सीखा स्कूटी चलाना

1 min


PeepingMoon.com Pearl V Puri and Nikki Sharma

अक्टूबर के फेस्टिव महीने में तीन नए दिलचस्प फिक्शन शोज़ प्रस्तुत करने के बाद अब ज़ी टीवी अपने बेहद सफल और रोमांचक शो ‘ब्रह्मराक्षस ’ के दूसरे शानदार सीजन के साथ दर्शकों को एक काल्पनिक दुनिया में ले जा रहा है।

इस शो में कालिंदी का किरदार निभा रही हैं यह एक्टर

Nikki Sharma

बालाजी टेलीफिल्म्स के निर्माण में बने इस शो के पहले एपिसोड का प्रसारण गत रविवार 22 नवंबर को हुआ, जिसमें पॉपुलर टेलीविजन एक्ट्रेस निक्की शर्मा कालिंदी के किरदार में, पर्ल वी. पुरी के अपोजिट नजर आईं, जो अंगद का रोल निभा रहे हैं। जहां निक्की अपने पहले सुपरनैचुरल शो में कालिंदी के रूप में पहली बार लीड भूमिका निभा रही हैं, वहीं यह एक्ट्रेस अपने किरदार में उतरने के लिए कड़ी मेहनत कर रही हैं, चाहे इसके लिए उन्हें कुछ नया ही क्यों ना आजमाना पड़े! हाल के एक सीन में मार्केट में कालिंदी की मुलाकात अचानक अंगद से होती है, जहां निक्की को स्कूटी चलाना था।

हालांकि निक्की ने अपनी जिंदगी में कभी स्कूटी नहीं चलाई, लेकिन उनका यह अनुभव भी बड़ा रोमांचक और खुशगवार रहा। इसके लिए उन्होंने न सिर्फ स्कूटी चलाना सीखा, बल्कि अपना सीन भी बहुत अच्छी तरह से किया।

अपना अनुभव बताते हुए निक्की शर्मा ने कहा, “अपने शो ब्रह्मराक्षस 2 के लिए मैंने कई नई चीजें की हैं, जिनमें से स्कूटी चलाना भी एक है। शुरुआत में जब मुझे इस सीन के बारे में बताया गया तो मेकर्स को लगा कि मुझे स्कूटी चलाना नहीं आता और इसलिए मैं अपना संतुलन नहीं बना पाऊंगी। हालांकि वो इस सीन को उसी तरह करना चाहते थे और इसलिए मुझसे सेट पर करीब पांच दिनों तक प्रैक्टिस करवाई और इसके बाद हमने अपना मास्टर शॉट लिया।

शुरू के कुछ दिनों में तो मुझे यह बड़ा मुश्किल लगा लेकिन पांचवे दिन मुझे यह पूरी तरह समझ आ गया और बहुत से टेक्स लेने के दौरान मैंने बड़े अच्छे से यह गाड़ी संतुलित करना सीख लिया। यह मेरे लिए एक नई चीज थी, क्योंकि मैंने इसके पहले कभी स्कूटी नहीं चलाई थी। सच कहूं तो यह बड़ा मजेदार अनुभव था।”

जहां निक्की की जिंदगी में ढेर सारे सरप्राइज़ बाकी हैं, वहीं उनके किरदार कालिंदी की जिंदगी में भी कुछ रोमांचक मोड़ आएंगे। अंबाला की पृष्ठभूमि पर आधारित ब्रह्मराक्षस2 में कालिंदी नाम की एक साधारण लड़की का सफर है, जिसकी किस्मत अब तक की सबसे खतरनाक शैतानी ताकतों में उलझ जाती है, जो अब जाग उठी हैं। पता चलता है कि कालिंदी का जन्म एक विशेष नक्षत्र में हुआ था, जिससे वो खास बन जाती है।

इसलिए ब्रह्मराक्षस को अमर बनने के लिए उसकी जरूरत होती है। उधर कालिंदी की एकमात्र ताकत है अपने साथी अंगद के प्रति उसका प्यार। जहां कालिंदी इस शैतानी दुनिया और अपनी सामान्य जिंदगी के बीच गुजर रही है, वहीं अब उसे अपनों को बचाने के लिए एक बेहद मुश्किल जंग लड़नी होगी!

ज्यादा जानने के लिए देखिए ‘ब्रह्मराक्षस 2’, हर शनिवार और रविवार रात 9 बजे, सिर्फ ज़ी टीवी पर।

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये