अभिनेत्री टिस्का चोपड़ा ने अभिनय सीखने के महत्व पर दिया जोर।

1 min


अभिनेत्री टिस्का चोपड़ा अपने शो टेट-ए-टेटे पर विभिन्न हस्तियों के साथ बात कर रही हैं, जहां वह अनप्लग्ड और सेलेब की एक साइड दिखाने की कोशिश करती है जिसे दर्शकों ने शायद पहले कभी नहीं देखा है। उनका हालिया एपिसोड अभिनेता पंकज त्रिपाठी के साथ था, और उसमें, दोनों ने अभिनय के क्षेत्र में प्रशिक्षण कितना महत्वपूर्ण है, इस बारे में बहुत कुछ बताया।

पंकज त्रिपाठी जहां नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से औपचारिक रूप से प्रशिक्षित अभिनेता हैं, वहीं टिस्का चोपड़ा वह हैं जो थिएटर की पृष्ठभूमि से आती हैं। बातचीत के दौरान, टिस्का ने पंकज त्रिपाठी से एक अभिनेता के जीवन में प्रशिक्षण के महत्व के बारे में एक बहुत ही दिलचस्प सवाल किया।

टिस्का चोपड़ा कहती हैं, “जब मैं प्रशिक्षित अभिनेताओं से बात करती हूं तो मुझे हमेशा अपने लिए बुरा लगता है क्योंकि मैं कभी एफटीआईआई या एनएसडी नहीं गई। मैंने थिएटर किया और मुझे मेरी पहली फिल्म मिली, जिसने उल्टा किया और फिर मुझे काम मिलना बंद हो गया, और फिर आखिरकार मैंने और थिएटर किया और फिर अच्छा काम मिलने लगा। मैं हमेशा दो दिमागों में रहती हूं कि क्या अभिनय एक गॉड गिफ्ट है, या यह कुछ ऐसा है जिसे सीखा जा सकता है, या शायद कुछ हद तक सीखा जा सकता है लेकिन थोड़ा जन्मजात होना चाहिए।” पंकज त्रिपाठी अपने विचारों को आश्वस्त करते हुए कहते हैं कि प्रशिक्षण वास्तव में आवश्यक है।

 

टिस्का चोपड़ा आगे कहती हैं, ”जहां स्टेज क्राफ्ट अलग है, वहीं कैमरे के लिए अभिनय भी बहुत अलग है। यह जानने के लिए कि आपका निशान कहाँ है (फर्श पर), यह जानने के लिए कि प्रकाश की दिशा कहाँ है, यह जानने के लिए कि आपकी आँख की रेखा को कैसे बनाए रखा जाए, और कई अन्य तकनीकी चीजें हैं, जो मुझे लगता है कि प्रशिक्षण से ही सीखा जा सकती है।

एक अभिनेता के रूप में किसी के कौशल को सुधारने के लिए प्रशिक्षण वास्तव में महत्वपूर्ण है, और इसके महत्व पर जोर देने के लिए पंकज त्रिपाठी से बेहतर कौन हो सकता है। टिस्का ने इस ने इस चर्चा से खूब गहन जानकारी सबके लिए साझा की है, जिसे सभी ने देखना चाहिए।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये