क्यों नहीं बनी अमिताभ- ऐश्वर्या की ‘हाफ पैंट फुल पैंट’

1 min


आर. बाल्की उन फिल्मकारों में हैं जो छोटी से छोटी कहानी को भी दिल के कैनवास पर उतार कर बड़ी बना देते हैं। ऐसी ही एक कहानी उनके जहन में आज भी है ‘हाफ पैंट फुल पैंट’। लेखक आनंद सस्पी के उपन्यास से ली गई इस कहानी को वह तब पर्दे पर विजुअलाइज करने के लिए चुने थे जब टीवी पर ‘मालगुडी डेज’ की चर्चा थी। निर्देशक बाल्की  अपने पसंददीदा अभिनेता अमिताभ बच्चन को लेकर इस विषय पर काम शुरू कर दिए। कहानी की मांग थी कि फुल पैंट के साथ हाफ पैंट (नायिका) किसे बनाया जाए? तब उनके दिमाग में आया था कि बच्चन के साथ ऐश्वर्या हों, वहीं दक्षिण की पृष्ठभूमि वाली कहानी के साथ न्याय कर सकेंगी। बहरहाल पटकथा की दो प्रति ससुर और बहू की जोड़ी के लिए तैयार करके उनको दे दी गई और सिम्बल के रूप में फुलपैंट हाफ पैंट की माप लेने टेलर भी पहुंच गया… फिर बात आगे नहीं बढ़ी। क्या हुआ यह तो पता नहीं, हां, आज भी बाल्की के दिमाग में वह कहानी है। हो ना हो किसी दिन पर्दे पर आ जाए।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये