अमिताभ बच्चन को लेकर डीडी-किसान और प्रसार भारती में घमासान

1 min


बिग बी यानी अमिताभ जाने अनजाने सुर्खियों में आ ही जाते है। पिछले कुछ दिनों से वह फिर सुर्खियों में है। वह डीडी-किसान चैनल के लिये किये गये विज्ञापन के पैसों को लेकर विवाद में है। यह विवाद इतना गहरा गया है कि अब किसान-मैनेजमेन्ट और प्रसारभारती (वह बोर्ड जो दूरदर्शन को चलाता है) के बीच गहमा-गहमी की स्थिति है और समझा जा रहा है कि दोनों विभागों में भारी फेरबदल होने जा रहा है।

पाठकों को याद दिला दें कि करीब पखवारे भर पहले सोशल-मीडिया पर यह खबर फैली थी कि बिग बी बात देशभक्ति की करते हैं लेकिन, उसके लिये दूरदर्शन से अच्छा खासा पैसा लिया है। बताया गया था कि यह राशि 6 करोड़ से 8 करोड़ है। ‘मायापुरी’ ने भी लिखा था ‘अमिताभ बच्चन हुए मंहगे व किसान हुए सस्ते’। इस खबर के बाद बच्चन तिलमिला गये। वह ट्वीट किये और उनकी ओर से मैसेज भेजा गया, जो इस प्रकार था: ‘‘मैं लोव लिंटास नामक एडवरटाइजिंग एजेन्सी के साथ काम कर रही थी, जो डीडी किसान के लिए कैम्पेन कर रहा था। इसके लिए हमारा किसी के साथ कोई कांट्रेक्ट नहीं था और न ही मैंने लिंटास की ओर से कोई धन राशि ली है।… डीडी किसान जैसे कैम्पेन के लिए मैंने निःस्वार्थ भाव से काम किया है।’’

इन खबरों के उपरांत चूंकि नाम अमिताभ का जुड़ा था इसलिए सूचना प्रसारण मंत्रालय (प्ठ) के कान खड़े हुए। मौखिक रूप से पूछताछ शुरू हुई कि डीडी किसान के लिए छः करोड़ का इंडोजऱ्मेन्ट अमिताभ के साथ किसकी स्वीकृति पर हुआ। उनके निशाने पर प्रसार भारती था। यहां बताने वाली बात है कि आइ बी मिनिस्ट्री और प्रसार भारती के बीच नियुक्तियों को लेकर पहले से भी मतभेद रहा है। सूत्र बताते हैं कि प्रसार भारती में से कोई भी इस सेक्शन की जिम्मेदारी पर बात करना नहीं चाहता। पर यह भी सच है कि डीडी  किसान ने चैनल के प्रचार के लिए 6.31 करोड़ रूपए अमिताभ को लोव लिंटास एजेन्सी के मार्फत दिया गया है। खैर, बच्चन के सफाई के बाद मान लिया गया कि वित्त विभाग या प्रसार भारती में से कोई इस अप्रूवल के लिए जिम्मेदार नहीं है। किसान चैनल के प्रमोशन के लिए एजेन्सी का कहना था कि उसने बच्चन के आॅफिस से सम्पर्क किया था और बातचीत जारी थी। एजेन्सी ने यह रूपया प्रसारभारती को वापस भेज दिया है। भले ही 8 करोड़ रूपए, जो किसान के प्रचार के लिए एजेन्सी को दिया जाना था, उस चर्चा पर चुप्पी लग गई हो लेकिन ऐसा है नहीं। सुगबुगाहट चल रही है कि किसान चैनल के कर्मियों और प्रसारभारती बोर्ड में घमासान मचा हुआ है। और अब, बच्चन साहब ने पूरी तरह चुप्पी साध ली है…!

SHARE

Mayapuri