दिवाली के आसपास मेरा जन्मदिन होने से डबल सेलेब्रेशन का माहौल होता है – अमिताभ बच्चन

1 min


—शुभम करोति कल्याणम, आरोग्यम् धन सम्पदा, शत्रु बुद्धि विनाशाय: दीप:ज्योति नमस्तुते!
सब से पहले तो मै अपने चाहने वालों को दीपोत्सव के अवसर पर प्यारभरी और खुशियों से भरी दीपावली ग्रीटिंग्स अर्पित करना चाहता हूँ। ये सच है कि हम वर्षों से दीवाली बहुत धूम धाम से मानते रहें है, लेकिन कई बार किन्ही कारणों के चलते हमें बहुत सादगी से भी मनाना पड़ता है ये त्यौहार। दीपावली का पर्व हमें जहाँ आनन्द और ख़ुशी से भर देता है वहीं बचपन की यादें भी तरोताजा कर देती है। आँखे बन्द कर के महसूस करने लगूँ तो उन दिनों की खुशबू भी मन को भिगो जाती है। वो दीवाली की रातें, वो बेफिक्री जब माताजी और बाबूजी सब तैयारियां कर लेते थे और हमारे हिस्से में होता था सिर्फ आनन्द और मौज मनाना। दीपावली के आस पास मेरा जन्मदिन होने से डबल सलेब्रेशन्स का माहौल रहता था। भले ही हम हर त्यौहार बहुत सादगी, पारम्परिक और घरेलू तरीके से मनाते थे लेकिन उसमें भी बहुत आनन्द होता थ। वक्त बदल गया, नया ज़माना आ गया लेकिन दिवाली का वो एहसास नहीं बदला, मिट्टी के कोरे दीये नहीं बदले, परम्पराएँ नहीं बदली। मन की भावनायें नहीं बदली। दीवाली पर आज भी घर की साफ़ सफाई, रंगाई पुताई, पर्दे, कवर्स सब नई बनाई जाती है,पूजा का आयोजन होता है, हां, अब पहले से कहीं ज्यादा परिचित, परिजन, दोस्त होने से आयोजन भी उसी तरह बड़ा होता है। साल में यही दो चार पर्व ही तो होतें है जब सब पुराने, नए दोस्तों से मिल बैठने का मौका मिलता है। आप सब को दीपावली के शुभ दिन की ढेर सारी बधाईयां, सेफ दीवाली मनाइए और धमाकेदार पटाखों से बचिए। (हाल ही में अमिताभ बच्चन को दादासाहेब फाल्के अवार्ड के लिए चुने जाने पर फ़िल्म इंडस्ट्री तथा गैर फ़िल्म जगत के दिग्गजों द्वारा उन्हें दिए जा रहे अभिनन्दन पर अमिताभ जी नम्रतापूर्वक धन्यवाद कह रहें हैं)

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये