विक्की कौशल की तकदीर

1 min


बॉलीवुड के मशहूर एक्शन निर्देशक शाम कौशल कभी नहीं चाहते थे कि उनका बेटा विक्की कौशल फिल्मों में अभिनय करे। लेकिन टेलीकम्यूनीकेशन में इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल करने के बाद पिता के विरोध के बावजूद विक्की कौशल बॉलीवुड में कूद पड़े। पहले उन्होंने अनुराग कश्यप के साथ फिल्म ‘गैंग आफ वासेपुर’ में बतौर सहायक निर्देशक काम किया। जहां उनकी मुलाकात नीरज घेवान से हुई। उन दिनों नीरज घेवान फिल्म ‘मसान’ की पटकथा लिख रहे थे। सूत्रों के अनुसार नीरज घेवान पहले ‘मसान’ में डोम के किरदार के लिए मनोज वाजपेयी या राज कुमार राव को लेना चाहते थे। पर कुछ कारणों से मनोज बाजपेयी व राज कुमार राव के इंकार कर देने पर नीरज घेवान ने इस फिल्म में रिचा चड्ढा व श्वेता त्रिपाठी के साथ विक्की कौशल को ले लिया। विक्की कौशल ने डोम लड़के के किरदार मे इतनी जान फूँक दी कि आज लोग फिल्म ‘मसान’ में विक्की कौशल के अभिनय की तारीफ करते हुए नहीं थक रहे हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि फिल्म ‘मसान’ देखने के बाद विक्की कौशल के अभिनय की तारीफ अमिताभ बच्चन, आमिर खान, फरहान अख्तर, राज कुमार, हिरानी, सोनम कपूर, जावेद अख्तर और शबाना आजमी भी कर रही हैं। अमिताभ बच्चन ने विक्की कौशल के पिता शाम कौशल के पास संदेश भेजकर कहा-‘‘मुझे यकीन नहीं हो पा रहा है कि विक्की की यह पहली फिल्म है।’’ इतनी प्रशंसा सुनने के बाद विक्की कहते हैं-‘‘अमिताभ बच्चन सर से अपनी तारीफ सुनकर मैं तो नत मस्तक हो गया हूं। मेरे अंदर विनम्रता के साथ जिम्मेदारी के बढ़ जाने का अहसास जागृत हो गया है। मेरे लिए इससे बड़ा पुरस्कार कुछ नहीं हो सकता।’’


Mayapuri