अमृता राव और हेमा मालिनी जी ASSOCHAM के विश्व हाथ स्वच्छता दिवस की पहल के लिए एक साथ आईं

1 min


Jyothi Venkatesh
मुंबई: अमृता राव और हेमा मालिनी जी विश्व हाथ स्वच्छता दिवस मनाने के लिए भारत के सर्वोच्च व्यापार संघ के एसोसिएटेड चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ऑफ इंडिया (एसोचैम) के साथ आए हैं| यह दिवस जो हर साल 5 मई को मनाया जाता है। इसी पहल की जागरूकता बढ़ाने के लिए, दोनों ने वीडियो और ऑडियो संदेश दिए। यह पहल माननीय प्रधानमंत्री के ‘मिशन स्वच्छ भारत ’का एक हिस्सा है।
इस अवसर पर अमृता ने कहा कि “कोविद -19 वायरस को रोकने के लिए हाथों की स्वच्छता सबसे शीर्ष उपाय है। बहुत से लोग अभी भी सोचते हैं कि कोरोनोवायरस कोल्ड और फ्लू की तरह एक वायरस है। वह अपने नाक और मुह कोंतोह ढक लेते अहि लेकिन हाथों की स्वच्छता के तरफ वो संवेदनशील नहीं होते हैं । ऐसे में किसी भी चीज को छूने या उसके पास से गुजरने से यह वायरस दूसरे व्यक्ति को भी लग सकता है। एहि समय है ही हम पूरी कोशिश करे लोगों को हाथ की स्वच्छ्ता के बारे में शिक्षित और जागरूक करने की। न केवल कोविद -19, बल्कि सभी श्वसन और आंतों के रोगों को साबुन से हाथ धोने से 50% तक कम किया जा सकता है।”
 नारायण सुपरस्पेशलिटी अस्पताल, गुरुग्राम एनसीआर क्षेत्र की स्वास्थ्य संबंधी जरूरतों को पूरा करने वाली एक विश्व स्तरीय चिकित्सा सुविधा ने इस पहल के लिए ASSOCHAM के साथ भागीदारी की है। अन्य  भागीदारों में हिमालय हर्बल्स, एबॉट, डेटॉल, हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड और आईटीसी जैसे ब्रांड शामिल हैं।
उन्होंने कहा, ” हाथ धोना रोज़ाना की आदत होनी चाहिए। साबुन के साथ अच्छा हैंडवॉश करना किसी भी एक वैक्सीन या मेडिकल हस्तक्षेप से अधिक जीवन बचा सकते हैं। मुझे खुशी होगी कि यह प्रयास कई लोगों के जीवन में एक अंतर लाने में सक्षम होगा ” अमृता ने साइन ऑफ करते हुए कहा।
SHARE

Mayapuri