क्रैश का हिस्सा बनना, मेरे लिए एक इमोशनल यात्रा की तरह रहा: अनुष्का सेन

1 min


क्रैश का हिस्सा बनना, मेरे लिए एक इमोशनल यात्रा की तरह रहा : अनुष्का सेन ने ये बात क्रैश की लांचिंग के दौरान एक इंटरव्यू में कहा

अनुष्का सेन को ऑल्ट बालाजी और ज़ी 5 के शो क्रैश से काफी लोकप्रियता मिल रही है। शूटिंग के दौरान उनका युवा अंदाज़ सभी को पसंद आया। उन्होंने सबका ध्यान अपनी तरफ खींचा है। और ध्यान खींचे भी क्यों ना, वह सेट पर सबसे युवा एक्टर भी जो थी। एक छोटी लड़की के लिए, इस किरदार को निभाना, जिसमें कई सारी लेयर्स या परतें हैं, इसके लिए जो मैच्योरिटी चाहिए, वह उन्होंने पूरे शूट के दौरान दिखायी और इसके लिए वह बधाई की पात्र तो है ही। हम वाकई इनके बारे में ये कह सकते हैं कि ये ‘छोटा पैकेट बड़ा धमाका’हैं। पेश है उनसे हुई बातचीत के मुख्य अंश

1 . शो के बारे में बताएं ?

क्रैश कबीर(कुंज आनंद ), काजल (अदिति शर्मा), आलिया(अनुष्का सेन ), रहीम (रोहन महरा) इन चार किरदारों की कहानी है। इन सबकी जिंदगी तब पूरी तरह बदल जाती है, जब उनको जन्म देने वाले, उनके पेरेंट्स की मौत एक कार क्रैश यानी कार दुर्घटना में हो जाती है। इसके बाद इन्हें एक अनाथालय जाना पड़ता है और वहां से चारों की जिंदगी चार दिशाओं में बंट जाती है। वहीं कुछ सालों के बाद, किस्मत अपना खेल खेलती है, सबसे बड़ा भाई कबीर (कुंज) , जो कि एक पुलिस ऑफिसर बन जाता है, वह एक मिशन पर जाने की ठानता है कि वह सभी भाई बहनों को एक साथ लाएगा।

2 . आपके किरदार के बारे में बताएं ?

आलिया इसमें 21 साल की लड़की के किरदार में हैं जो कि बेहद स्मार्ट है और वह दुनिया को अपने क़दमों के नीचे रखती है, जिन्होंने उसे गोद लिया है, उस पेरेंट्स ने उसे बुरी तरह बिगाड़ रखा है, वह उसे किसी शहजादी से कम नहीं मानते और उसके सारे नखरे उठाते हैं। वह थोड़ी सी सिर फिरी है और वह ये बात जानती है। हालाँकि वह शार्प भी है और सहज भी।  वह चीजों को बारीकी से देखती है, फिर उसे अच्छी तरह अपने जेहन में बिठाती है और फिर उस बात पर एक्ट करती है। वह बहुत ही चालाक है. उसका दिमाग लोमड़ी की तरह चलता है, लेकिन वह दिखाती है कि वह एक भेड़ जैसी मासूम है। आलिया सोशल मीडिया एडिक्ट है, लेकिन इसलिए नहीं कि वह इसे एन्जॉय करती है, बल्कि इसलिए क्योंकि उसे लगता है कि अमीर लोग इससे ही लोकप्रिय होते हैं और उसे भी लोगों के बीच फेमस होना ही चाहिए। वह अपने बैंक अकाउंट का भी इस्तेमाल बिना सोचे समझे करती है। इस लड़की के मन में लोगों के इमोशन के लिए सॉफ्ट कार्नर है, लेकिन वह यह दिखाती नहीं है, बल्कि वह हमेशा यह दिखाती है कि घमंड में चूर रहती है और दूसरों पर हंसती है। तो सामान्य तौर पर कहें तो वह ब्लॉन्ड की तरह बर्ताव करती है, लेकिन वह किसी ‘बिच’ से कम नहीं।

3 . आपने अपने किरदार के लिए किस तरह से तैयारी की ?

क्रैश से जुड़े रहने की सबसे बड़ी वजह यह रही कि यह चार भाई बहनों की जिंदगी पर आधारित है और उनके संघर्ष की कहानी पर आधारित है कि उन्होंने किस तरह से अपनी जिंदगी जी और अपने सपनों को पूरा किया। ओटीटी प्लैटफॉर्म्स आर्टिस्ट्स को शानदार मौके दे रहा है कि वह खुद को साबित कर पाएं। मेरे लेटेस्ट प्रोजेक्ट में मुझे   वह स्पेस दिया कि मैं कहानी के माध्यम से बतौर एक एक्टर खुद को एक्सप्लोर कर पाऊं। मुझे ये स्क्रिप्ट बेहद पसंद आया और मेरा जो किरदार है क्रैश में, यह भाई बहनों के प्यार की प्यारी सी गाथा है, जिसमें उनके प्यार, उनके समर्पण और उनके दर्द को दिखाया गया है, जब वे सभी बेहद कम उम्र में एक दूसरे से जुदा हो जाते हैं।

4 . क्रैश को लेकर आप कितनी उत्साहित हैं ?

यह यूथ पर आधारित वेब शो है, जो कि निश्चित तौर पर दर्शकों को जरूर कनेक्ट करेगा और उन्हें उनके भाई बहनों के साथ के अनकहे और गहरे प्यार को, जिसे वे कभी एक दूसरे को कह नहीं पाते, उसे दर्शायेगा।

5 . क्या आपको लगता है कि ओटीटी प्लैटफॉर्म्स ही अब एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री का भविष्य होगा ?

इसमें कोई संदेह नहीं कि ओटीटी प्लैटफॉर्म्स अब एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री का भविष्य बन चुका है। और जैसे-जैसे ये प्लैटफॉर्म्स बढ़ रहे हैं, इन पर कई जॉनर की कहानियां अब दर्शकों को देखने को मिल रही हैं। फ़िलहाल जिस तरह का माहौल है, मुमकिन है कि आनेवाले समय में दर्शक केवल ओटी टी देखना ही पसंद करेंगे, क्योंकि इसे वे आराम से अपने घर में बैठ के देख सकते हैं।  इसपर जिस तरह के अलग-अलग तरह का कंटेंट आ रहा है और जिस तरह से ऑडियंस बढ़ रही है, डिजिटल प्लैटफॉर्म्स अब हर किसी के लिए न्यू नॉर्मल बन चुके हैं ।

6 . अपने कोस्टार्स के साथ काम करने का आपका अनुभव कैसा रहा ?

मुझे सबके साथ काम करके बेहद मजा आया, मेरा सभी के साथ ऑफ़ कैमरा अलग इक्वेशन रहा।  सभी बेहद शानदार, प्यारे, टैलेंटेड हैं और सभी का भविष्य बेहद अच्छा है और सभी अपने टैलेंट के अनुसार चमकेंगे भी।  इन सबको अच्छे मौके मिलने  वाले हैं, क्योंकि ये सभी बहुत मेहनती भी हैं।

7 . शो को लेकर आपकी क्या उम्मीदें हैं ?

दर्शक इसे किस तरह से लेंगे, ये मैं नहीं जानती, लेकिन बतौर एक्टर मैं इतना कह सकती हूँ कि मैंने अपना 100  प्रतिशत दिया है।  मैं बिल्कुल चाहती हूँ कि शो अच्छा करे और दर्शकों के जेहन में यह ज़िंदा रहे और यह संयोग ही है कि शो वैलेंटाइन डे के दिन आ रहा है, एक ऐसा दिन, जिसे हम प्यार के दिन के रूप में मनाते हैं।  मैं सारे भाई बहनों से कहूँगी कि वे यह शो जरूर देखेंगे। और मुझे उम्मीद है कि यह उनके दिल को छुएगी। हमने अपना 100 प्रतिशत दिया है और हमने ये सब बेहद  सीमित यूनिट्स के साथ, सावधानी बरतते हुए और पूरी टीम एफर्ट्स के साथ शूट किया है।

8 . आप वो कौन सा एक मेसेज या संदेश है, जो शो के माध्यम से अपने दर्शकों को देना चाहेंगी ?

परिवार के महत्व को शो में मुख्य रूप से दर्शाया गया है।और साथ ही जुदा होने दर्द और एक दूसरे को ढूंढ़ने का दृढ़ संकल्प भी शो के दृश्यों में दिखाया गया है। यह उस दुर्घटना को भी दर्शाता है, जिसकी वजह से पूरा परिवार बिखर जाता है।  इसमें उन बच्चों की जिंदगी की भी झलक है, जिन्हें किसी और के गोद लेने की वजह से जुदा होना पड़ता है।  इसके बाद वे किस तरह के मेंटल ट्रॉमा से गुजरते हैं, लेकिन फिर भी उनके बीच एक कनेक्शन होता है, जिसके बारे में वे नहीं जानते।  यह एक इमोशनल कहानी है और इसे शूट करना भी मेरे लिए बहुत इमोशनल रहा, मैं इसे निभा कर बेहद खुश हूँ। मुझे उम्मीद है कि दर्शक भी ऐसा ही महसूस करेंगे।

9 . कोविड के बाद शूट करने का अनुभव कैसा रहा ?

कैमरे पर वापस लौट कर मैं बेहद खुश थी। मुझे ऐसा महसूस हुआ, जैसे मेरी घर वापसी हुई है। मेकर्स ने वैसे सारे गाइडलाइंस सेट पर फॉलो किया। एक्टर्स को लेकर वे बेहद सतर्क थे। एक्टर्स भी पूरे सतर्क रहे। सेट पर काफी कम लोग और सभी ने मास्क पहन कर ही काम किया। हर जगह सैनेटाइजर की बोतल और स्प्रे थी ही।  यह एक अलग ही अनुभव रहा।  लेकिन मैं भी फिर उसमें अभ्यस्त हो गई थी। यह सबके लिए न्यू नॉर्मल वाली बात हो गई है।

10 . आपने शूटिंग के दौरान क्याक्या सावधानी बरती ?

यह एक चैलेंज की तरह था, इतनी सारी पाबंदियों के साथ काम करना। लेकिन गाइडलाइंस को ध्यान में रखते हुए, मैं अपने साथ सैनेटाइजर, मास्क्स, ग्लोव्स सबकुछ साथ रखती थी।  इसमें केवल मुझे अपनी सुरक्षा की नहीं, अपने साथ काम कर रहे लोगों, कास्ट और क्रू की सुरक्षा का ध्यान रखना भी बेहद जरूरी था।

SHARE

Mayapuri