फतवे पर दी ए.आर.रहमान ने सफाई

1 min


पैगंबर मुहम्मद साहब पर बनी फिल्म में संगीत देने को लेकर जारी फतवे के बाद जाने माने संगीतकार ए आर रहमान ने अपनी  सफाई पेश की।

दरअसल एक सुन्नी मुस्लिम संगठन रजा अकादमी ने रहमान और ईरानी फिल्म निर्देशक माजिद माजिदी के खिलाफ फतवा जारी किया है, इतना ही नहीं माजिदी की ईरानी फिल्म “मुहम्मद : मैसेंजर ऑफ गॉड” पर आपत्ति जताते हुए इस मुस्लिम संगठन ने रहमान और माजिद को काफिर ठहराया है।

वहीं रहमान ने इस बारे में कहा कि “मुहम्मद : द मैसेंजर ऑफ गॉड” के लिए संगीत देने का फैसला उन्होंने सद्भाव में लिया था। इसके पीछे किसी भी धार्मिक संगठन की भावनाओं का आहत करने का उनका कोई मकसद नहीं था।

रहमान ने अपनी फेसबुक वॉल पर एक पत्र लिखा। इसमें उन्होंने कहा, “यह पत्र उन सभी लोगों के लिए है, जो मुझसे जुड़े हालिया घटनाक्रम से अवगत हैं। मैं इस्लाम का छात्र नहीं हूं। मैं मध्यमार्ग का अनुसरण करता हूं और परंपरावादी तथा आंशिक रूप से तर्कवादी हूं। मैं पश्चिमी और पूर्वी दुनिया के देशों की यात्राएं करता रहता हूं और जो जैसे हैं, उन्हें उसी रूप में स्नेह करने की कोशिश करता हूं।

मैंने “मुहम्मद : मैसेंजर ऑफ गॉड” फिल्म का निर्देशन या निर्माण नहीं किया। मैंने सिर्फ इसमें संगीत दिया है। फिल्म में काम को लेकर मेरे आध्यात्मिक अनुभव बहुत निजी हैं। मैं इन्हें किसी के साथ साझा नहीं करना चाहूंगा।”

खबरों की मानें तो संगठन ने इस फिल्‍म में खुदा का मजाक बनाए जाने का आरोप लगाया है, साथ ही संगठन ने रहमान को इस फिल्म में म्यूजिक देने पर उन्हें नापाक करार दिया ।

 

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये