फिल्म ‘कैरी ऑन कुट्टन’ के लिए आराधना ने लखनऊ में की वर्कशॉप  

1 min


फिल्म ‘कैरी ऑन कुट्टन’ के ज़रिए एक्टिंग डैब्यू करने जा रही अदाकारा आराधना फिल्म में सत्यजीत दुबे के विपरीत नज़र आनेवाली हैं। फिल्म में ज्योति चौहान का किरदार निभाने के लिए उन्होंने लखनऊ शहर में कुछ दिनों का वर्कशॉप किया था, वह वर्कशॉप उनके लिए काफी अच्छा अनुभव था। फिल्म के किरदार में खुद को ढालने के लिए आराधना 15 दिनों तक लखनऊ में ठहरी थी। वहां आराधना ने स्थानीय लोगों से बात की खासकर ज्योति के आयु वर्ग की सरकारी स्कूल में जानेवाली लड़कियों से। इतना ही नहीं आराधना के घर काम करने वाली नौकरानी से भी उन्होंने खूब बातचीत की है। इन्ही सब चीज़ों से आराधना ने  ज्योति के किरदार की बोली और बारीकी को समझा है और फिल्म में इस किरदार को बखूभी निभाया है।

इस बारे में बताते हुए अदाकारा आराधना ने कहा है ‘ जब मैंने फिल्म की स्क्रिप्ट पढ़ी उस वक़्त मुझे ज्योति का किरदार काफी मजबूत लगा, इसीलिए मुझे यह स्क्रिप्ट पसंद आई। कुछ परिस्थितियों के कारण 16 वर्षीय लड़की ज्योति के दिमाग पर मनोवैज्ञानिक तौर पर की उसे ज़िन्दगी में जो कुछ हासिल करना है उसे खुद ही अपने तरीके से हासिल करना होगा। इस पूरी प्रक्रिया के दौरान काफी कुछ सीखने को मिला है। इस किरदार ने लिए मैंने 2 सप्ताह लखनऊ में स्थानीय लोगों के साथ गुज़ारे ताकि उनकी बोली सीख सकूं। यह काफी चुनौतीपूर्ण काम था जोकि मुझे काफी पसंद आया। ‘

आराधना फिल्म में एक बागी का किरदार निभा रही हैं जिसकी कोई मदद करने वाला नहीं है। वो एक बार जिस चीज को हासिल करने की ठान लेती है उसे किसी भी हाल में हासिल कर लेती है। चीज़ों को हासिल करने के लिए आराधना अपने रूप और आकर्षण का इस्तेमाल करती है। इस किरदार के बिगड़े आचरण की वजह उसके माँ – बाप है जिन्होनें एक लड़की होने के कारण उसे जन्म से ही छोड़ दिया था।

SHARE

Mayapuri