पहला ब्रेक देने वाले डायरेक्टर अर्जुन हिंगोरानी के निधन पर भावुक हुए धर्मेंद्र

1 min


बॉलीवुड अभिनेता धर्मेंद्र को फिल्म में पहला ब्रेक देने वाले जाने माने निर्माता-निर्देशक अर्जुन हिंगोरानी का 5 मई को 92 साल की उम्र में निधन हो गया। उनकी मौत शनिवार को वृंदावन में हुई और मौत की वजह अभी मालूम नहीं हो पाई है। 1960 में अर्जुन हिंगोरानी ने धर्मेंद्र को ‘दिल भी तेरा हम भी तेरे’ फिल्म में पहला मौका दिया था। ये रोमांटिक फिल्म उस दौर में हिट हुई थी और बतौर अभिनेता धर्मेंद्र को पहचान मिली।

अपने तीन दशक से अधिक के लंबे करियर में हिंगोरानी ने अधिकतर फिल्में धर्मेंद्र के साथ बनाई थीं। इन दोनों की दोस्ती फिल्मी दुनिया में किसी से छिपी नहीं थी। हिंगोरानी ने धर्मेंद्र के साथ ‘कब? क्यों? और कहां?’, ‘कहानी किस्मत की’, ‘खेल खिलाड़ी का’, ‘सल्तनत’ और ‘कौन करे कुर्बानी’ जैसी फिल्में बनाई थीं।

भगवान उनकी आत्मा को शांति दे

धर्मेंद्र ने ट्वीट करके अर्जुन हिंगोरानी के मौत पर लिखा, ‘वो शख्स जिन्होंने मुंबई में एक अकेले इंसान के कंधे पर अपना हाथ रखा, हमें हमेशा के लिए छोड़कर चला गए हैं। मैं बहुत दुखी हूं। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे। ‘बतौर निर्माता अर्जुन हिंगोरानी की आखिरी फिल्म 2003 में आई ‘कैसे कहूं कि…प्यार है’ थी।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए  www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज Facebook, Twitter और Instagram पर जा सकते हैं.

 

 

 


Like it? Share with your friends!

Sangya Singh

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये