Aryan Khan Drug Case: क्या समीर वानखेड़े का नाम आर्यन की ज़मानत के लिए उछाला जा रहा है?

1 min


2 अक्टूबर से लेकर आज 26 अक्टूबर तक आर्यन खान को 24 दिन हो गये हैं जेल गये। इस दौरान तीन बार जमानत की अर्ज़ी दी जा चुकी है पर एनसीबी की बेहतरीन दलीलों और शाहरुख़ खान के बदलते वकीलों की बदौलत, अब तक जमानत नहीं मिली है।

लेकिन अब केस के लीड ऑफिसर और एनसीबी के जोनल हेड ‘समीर वानखेड़े’ पर ही इल्जाम लग रहा है कि वह रिश्वत लेने के लिए बड़े-बड़े स्टार्स और उनके बच्चों को तंग करते हैं। महाराष्ट्र की तीन टायर वाली सरकार के हिस्सेदार पार्टी एनसीपी के नेता ‘नवाब मलिक’ ने इल्ज़ाम लगाये हैं। हालाँकि समीर वानखेड़े के अनुसार ये सब बेकार की बातें हैं और यह सिर्फ और सिर्फ केस से भटकाने के लिए ऐसा किया जा रहा है।

हालाँकि कोर्ट में मीडिया की रिपोर्ट्स स्टेटमेंट के तौर पर वैलिड नहीं होती हैं लेकिन हो सकता है कि हाई कोर्ट की हियरिंग के वक़्त जज के मन में भी ये बात घर कर जाये कि एनसीबी जानबूझकर केस को बढ़ाने की कोशिश तो नहीं कर रही है।

साथ ही दूसरी ओर, शाहरुख़ खान ने फिर एक बार आर्यन का वकील बदल दिया है। अब आर्यन की जमानत की सुनवाई मशहूर वकील मुकुल रोहतगी कर रहे हैं। उनकी दलीले हैं कि आर्यन के पास से कोई चैट नहीं मादक पदार्थ नहीं मिला है।

आर्यन का कोई टेस्ट भी नहीं हुआ है जिससे ये साबित हो कि आर्यन ने ड्रग्स लिया था।

वहीं आर्यन के दोस्त, अरबाज़ मर्चेंट भी इस बात से मुकर गये हैं कि उनके पास से कोई ड्रग बरामद हुआ था। जबकि एनसीबी के सामने उन्होंने अपने जूते से छः ग्राम चरस निकाली थी।

उनकी यह भी दलील है कि आर्यन ने कोई वित्तीय लेन-देन नहीं किया है।

आर्यन अगर ड्रग लेते भी हैं तो उन्हें सुधारगृह भेजा जाना चाहिए, उन्हें कठिन दंड देकर ज़्यादती की जा रही है।

उनका यह भी कहना है कि इस पंचनामे में कोई मोबाइल फ़ोन बरामद नहीं किया गया।

लेकिन प्रोसिक्यूशन के वकील एएसजी सिंह की वही दलील है कि अगर आर्यन और उनके मित्रों को ज़मानत दे दी गयी तो यह केस ख़राब कर देंगे। इस केस का हाल भी वही होगा जो रिया चक्रवर्ती के केस का हुआ था

 

SHARE