जाना ना दिल से दूर में आखिरकार अथर्व और विविधा प्यार में गिरफ्तार

1 min


माॅनसून प्यार, जुनून, ख्वाहिशों और रोमांस का मौसम है। यह ऐसा मौका है जब प्यार में डूबे लोग लहरों के साथ अपने दिल को मिला देते हैं ताकि उनका दिल खुद उनके एक दूसरे के प्रति जुनून को आवाज दे सके। इसी रोमांटिक माॅनसून में ऐसी स्थितियां बनती हैं कि अथर्व और विविधा एक दूसरे के करीब आते हैं। चाहे वह अचानक बरसने वाली बारिश हो जिससे बचने के लिए दोनों ने साथ शरण ली या फिर साड़ी जो दोनों को करीब ले आई। कैलाश और आसपास के नकारात्मक लोगों की कोशिशों के बावजूद दोनों के बीच निश्चित रूप से प्यार का अंकुर फूट चुका है।

फिलहाल कहानी अनुसार मजबूर विविधा अपने एड़ी में चोट लगा चुकी है और वह बगीचे में बैठी थी तभी जोरों की बारिश होने लगी। अचानक अथर्व यह देख लेता है और उसकी मदद करने की कोशिश करता है लेकिन वह लड़खड़ा कर अथर्व की बांहों में गिर जाती है जो उसकी सुरक्षा चाहता है। आखिरकार वह विविधा को बाहों में उठा लेता है और उसकी जगह पर उसे छोड़ आता है। अब तक विविधा ने खुद को अथर्व के प्यार में पड़ने से बचा रखा था लेकिन आखिरकार प्यार के मौसम का असर दोनों पर साथ हो ही गया।

दोनों के बीच दर्शकों को बेहद निकटता देखने को मिलेगी और परिस्थितियां दोनों को पास ले आएंगीं। यह वाकई प्यार का मौसम है जो अथर्व और विविधा के बीच खिल रहा है।

SHARE

Mayapuri