इंडियन रेंबो ‘बाग़ी 2’

1 min


जब भी किसी सफल फिल्म का सीक्वल बनता है तो उसे बनाते हुये दबाव रहता है कि वो पहले से कहीं ज्यादा अच्छा बनना चाहिये। निर्देशक अहमद खान की फिल्म बाग़ी का सीक्वल ‘बाग़ी 2’ वाकई पहली से बेहतरीन बना है तथा ये एॅक्शन पैक्ड फिल्म टाइगर श्रॉफ को इंडियन रेंबो के तौर पर स्थापित करती है।

फिल्म की कहानी

टाइगर और दिशा पटानी की दोस्ती कॉलेज से शुरू हुई लेकिन शादी तक नहीं पहुंच पाई, क्योंकि दिशा ने मौत के करीब पहुंचे पिता की मर्जी के मुताबिक किसी और से शादी कर ली। प्रेम में विफल हो टाइगर ने आर्मी ज्वाईन कर ली। जो बहुत जल्दी आर्मी में बतौर कमांडो कैप्टन अपनी जांबाजी के लिये जाना जाने लगा। करीब चार साल बाद टाइगर को दिशा का मैसेज मिलता है। उसके बाद टाइगर दिशा से गोवा में जाकर मिलता है तो उसे पता चलता है कि दिशा की चार साल की बच्ची का अपहरण कर लिया गया है चारों तरफ से मायूस हो दिशा उससे अपनी बच्ची को तलाश करने की गुहार लगती है। टाइगर जब बच्ची की तलाश में निकलता है तो उसे कितने ही रहस्यों से पर्दा उठाना पड़ता है, तब कहीं जाकर उसकी तलाश पूरी होती है।

अहमद खान बेशक कितना ही शौर मचा ले कि उसने ऑरीजनल कहानी पर फिल्म बनाई है लेकिन सच तो ये है कि टाइगर को लेकर उसकी ये तीसरी फिल्म है जो साउथ इंडियन फिल्म का रीमेक है। मौजूदा फिल्म भी तेलगू फिल्म ‘क्षणम’ का रीमेक है। इसके अलावा फिल्म में पिछले दिनों कश्मीर में तिरंगा जलाने और आर्मी अधिकरी द्धारा एक आंतकी को जीप के आगे बांधकर घुमाने की न्यूज का भी फिल्मीकरण कर दिया गया। पहले भाग में एक के बाद एक रहस्यों के तहत कहानी को इस प्रकार उलझाया गया है कि दर्शक झुंझलाने लगता है। दूसरे भाग के शुरु आधा घंटा गुजर जाने के बाद कहीं जाकर कहानी स्पीड पकड़ती है। उसके बाद टाइगर वन मैन आर्मी के तौर पर उभर कर सामने आता है और अपने जबरदस्त एक्शन द्धारा बरसों पहले हॉलीवुड एक्टर सिल्वेस्टर स्टेलॉन की याद ताजा करवा देता है। फिल्म के एक्शन सीन स्वंय अहमद खान ने डिजाइन किये, जो कमाल के हैं। पटकथा थोड़ी सुस्त लेकिन वन लाइन संवाद अच्छे बने पड़े हैं। फोटोग्राफी तथा लोकेशंस बढ़िया हैं, लेकिन संगीत सुस्त रहा। यहां तक आईटम सॉन्ग एक दो तीन के तहत जैकलिन ऑरीजनल गाने के करीब तक नहीं पहुंच पाती।

अभिनय की बात की जाये तो पूरी फिल्म में टाइगर श्रॉफ छाये हुये हैं। जबरदस्त एक्शन के अलावा भावनात्मक दृश्यों में भी वो बेहतरीन अभिव्यक्ति दे जाता है, जबकि इस बार उसके सामने मनोज बाजपेयी, रणदीप हुड्डा तथा दीपक डोबरियाल जैसे सशक्त अभिनेता खड़े थे, लेकिन तीनों ने ही उसे बेहतरीन सहयोग दिया। एक अरसे बाद प्रतीक बब्बर का एक नये अवतार में बढ़िया आगमन हुआ। दर्शन कुमार के लिये कुछ खास करने के लिये नहीं था तथा दिशा पटानी के लिये सिवाय खूबसूरत दिखाई देने के अलावा और कुछ हिस्से में नहीं आ आया। जैकलिन फर्नाडीज को आइटम सॉन्ग एक दो तीन के तहत पूरी तरह से वेस्ट किया गया।

एक्शन और टाइगर श्रॉफ के दीवाने दर्शकों के लिये फिल्म में बहुत कुछ है।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए  www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज Facebook, Twitter और Instagram पर जा सकते हैं.


Like it? Share with your friends!

Shyam Sharma

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये