चिडि़या घर में बाबूजी की मूंछों को लेकर मचा बवाल

1 min


सब टीवी पर प्रसारित ‘चिडि़या घर‘ एक जिंदादिल परिवार की कहानी है, जिसमें मौजूद विभिन्न सदस्यों की विचित्र आदतें हैं। उनके विविध नामों के अनुसार, प्रत्येक सदस्य की एक अनूठी खासियत है, जो उनकी शख्सियत और रवैये को परिभाषित करती है।

हालिया ट्रैक में, चिडि़या घर के पुनरुद्धार के बाद इसका पुराना वैभव वापस लौट आया है और इस उत्साह में समूचा चिडि़या घर एक बड़ा जलसा करने की तैयारी में है। इस भव्य समारोह की तैयारी में बाबूजी (राजेन्द्र गुप्ता द्वारा अभिनीत) अपनी मूंछांे को संवारते समय सब कुछ उल्टापुल्टा कर देते हैं और जब वे अपनी गलती को सुधारने का प्रयास करते हैं तो उनकी मूंछें ऊंची-नीची कट जाती हैं। अंत में उन्हें अपनी मूंछें इतनी छोटी करनी पड़ती हैं कि वे बेहद हास्यास्पद नजर आते हैं।

चिडि़या घर के सदस्य बाबूजी को बिना मूंछों कै देखकर पूरी तरह से हैरत में हैं। बाबूजी अपनी जादुई मूंछो। के बगैर बेहद असहज और छोटा महसूस करते हैं और समारोह में हिस्सा लेने से इनकार कर देते हैं। गोमुख (सुमित अरोड़ा द्वारा अभिनीत) बाबूजी के लिए नकली मूंछो। का आइडिया देता है, जिसके बाद वे पार्टी में शामिल होने के लिए मान जाते हैं लेकिन किसी कारणवश उनकी मूंछों खो जाती हैं और बाबूजी को लगता है कि मूंछो। के बगैर वे पहले जैसे पुरूष नहीं रह जायेंगे और लोग पहले की तरह उनका सम्मान नहीं करेंगे।
राजेन्द्र गुप्ता जिन्होंने बाबूजी का किरदार अदा किया है, ने कहा, ‘‘जब से चिडि़या घर की शुरूआत हुई है, मेरी मूंछो। के साथ कोई खिलवाड़ नहीं किया गया और मेरा लुक हमेशा अनोखा बना रहा। इस ट्रैक में मेरी मूंछों चली जाती हैं और अचानक मुझे खुद में अंतर महसूस होता है। ट्रैक में मेरे चरित्र के साथ कई उतार-चढ़ाव जुड़े हुये हैं। मेरा वाकई में विश्वास है कि दर्शक मेरे नये लुक को स्वीकार करेंगे और इस लुक में मुझे अपना लेंगे।‘‘
क्या चिडि़या घर के परिवार के लोग कुछ भी होने के बावजूद बाबूजी में अपना विश्वास बनाये रखेंगे और उनका हमेशा सम्मान करेंगे?
संपूर्ण काॅमेडी और मस्ती का आनंद उठाने के लिए देखिये चिडि़याघर, सोमवार से शुक्रवार, रात 9 बजे, सिर्फ सब टीवी पर!


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये