‘बैरिस्टर बाबू’ में आनेवाला है ये ट्विस्ट, क्या ताराबाई के गलत इरादों से बच पाएगी बोंदिता

1 min


कलर्स टीवी पर प्रसारित होने वाला सीरियल ‘बैरिस्टर बाबू’ अपने कैरेक्टर के माध्यम से सामाजिक मुद्दों को देश में  उजागर कर रही है. पितृसत्ता समाज, महिलाओं के अधिकारों और अन्य सामाजिक कलंक से संबंधित सभी मामलों के प्रति अपने अपरंपरागत दृष्टिकोण के साथ, सीरियल ‘बैरिस्टर बाबू’ दर्शकों पर एक मजबूत छाप  बना रहा है.

आपको बता दें कि इस शो  ‘बैरिस्टर बाबू’ के करेट ट्रैक में दिखाया जा रहा है कि अनिरुद्ध (प्रवीण मिश्रा) को पता चलता है कि बोंदिता (आभा भटनागर) एक वेश्यालय में फंस गई है और वह तुरंत उसे बचाने के लिए जाता है. जैसे ही वह बोंदिता से मिलने वाला होता है, ताराबाई अपने गुंडों को अनिरुद्ध से लड़ने के लिए बुलाती है. बाद में ताराबाई सुरैया से कहती है कि बोंदिता को अपना नृत्य पेश करने के लिए लाओ.

बैरिस्टर बाबू

बोंदिता ने लाल और सफेद रंग की साड़ी में अपने सिर पर दुर्गा माँ की चुनरी पहन रखी है और कहती है कि वह अपने पति के घर जरूर वापस जाएगी. यह शो और भी दिलचस्प होने वाला है. इस शो के अपकमिंग एपिसोड में ये देखना दिलचस्प होगा कि अनिरुद्ध और बोंदिता को कई कठिन चुनौतियों का कैसे सामना करेंगे और समाजिक कुरीतियों से कैसे लड़ेंगे.

इस शो ‘बैरिस्टर बाबू’ के  कैरेक्टर के बारे में आभा भटनागर ने बताया कि “मैं माँ दुर्गा की सच्ची भक्त हूँ. जब से मैंने अपनी माँ से शास्त्रों के बारे में जानना शुरू किया,  उन्होंने हमेशा मुझसे कहा कि हिंदू पौराणिक कथाओं में देवी हमारे भीतर शक्ति और शक्ति की भावना पैदा करती हैं. मां दुर्गा एक मजबूत महिला का प्रतिनिधित्व करती हैं, जो बुराई का अंत करती हैं. मुझे इस विशेष सीक्वेंस को करने काफी समय लगा. मुझे उम्मीद है कि मैंने इस काम के साथ न्याय किया है और ये भी उम्मीद है कि पूरे देश में दर्शक बोन्दिता का समर्थन करते रहेंगे.


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये