रणवीर सिंह वही करतें है जो रिस्की होता है

1 min


अगर इनदिनों रणवीर सिंह को रूबरू मिलना और ढूंढना, लोगों को, एक टेढ़ी खीर जैसी लग रही है तो वह इसलिए कि रणवीर सिंह अपनी नवीनतम संजय लीला भंसाली कृत फिल्म में, अपने एकदम लीक से हटकर रोल ‘अलाउद्दीन खिलजी’ के किरदार पर सौ प्रतिशत चिंतन मनन करने के लिए मुंबई के गोरेगांव के पास स्थित अपने ऐसे निवास में बंद हो गए हैं जिसे वे शरारत से ‘मेरी गुफा’ का नाम देते हैं।

तो जब इस शेर से, उनके गुफा के बारे में छानबीन की तो उन्होंने हंसते हुए बताया कि “यही वह जगह है, यही वह फिज़ा है, यहीं पर कहीं, हम वो सब तैयारियां करते हैं जो रुपहले पर्दे पर उभर कर आते हैं।” रणवीर के इस गुफा की विशेषता यह है कि यह दुनिया की भगदड़,शोर-शराबे, आपाधापी और कनेक्शन से एकदम कटी हुई है। उनका यह निवास इतनी ऊंचाई पर है, जहां मोबाइल इंटरनेट सिग्नल का दूर-दूर तक नामोनिशान नहीं है और इस तरह रणवीर सबकी नजरों के रडार से महफूज़, यहां अपनी भूमिकाओं की रचनात्मक तैयारी में डूबे रहते हैं। रणवीर सिंह के अनुसार संजय लीला भंसाली की इस फिल्म में वे ऐसा निगेटिव रोल कर रहे हैं जो उनके कंफर्ट जोन से दूर है और इस बार वे एक जबरदस्त करियर रिस्क ले रहे हैं। तो फिर, वे ऐसा रिस्क क्यों ले रहे हैं? पूछने पर वे कहते हैं इस तरह मैं अपनी रचनात्मकता को हरा-भरा रखता हूं और जो चरित्र मुझे डरा दे वही तो मेरे लिए चुनौती है और मैं चुनौतियों से कहां पीछे हटने वाला हूँ।

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये