भैया मेरे राखी के बंधन को निभाना…!

1 min


अफगानिस्तान के तालिबानी संकट के बाद जब वहां सबसे ज्यादा बेसहारा हुई हैं महिलाऐं… भारत में तुरत सामने आए त्योहार “रक्षा बंधन“ का महत्व और बढ़ गया है। सैनिकों की विधवाएं हों या अनाथ हो गई बहनें- उनकी रक्षा का कवच बनने के लिए भारत की बहनों के सामने एक मौका आया है जब वह भाइयों से अपनी सुरक्षा का वचन मांगें। इस मौके पर फिल्म ’छोटी बहन’ का गीत याद आता है- भैया मेरे राखी के बंधन को निभाना…!

बकौल प्रधान मंत्री जैसा कि उन्होंने पिछले साल ही आवाहन किया था कि बहनें अपनी एक ’राखी’ सीमा पर तैनात सिपाहियों को भी भेजें। और, हज़ारों बहनों ने सीमा पर तैनात फौजी भाइयों को राखी भेजा था। यह भारत ही है जो भावनाओं से रिश्तों की अहमियत को बांधता है। रक्षा बंधन उस भावना का एक प्रतीक है।

बॉलीवुड इस पवित्र- भावना को जन जन तक पहुंचाने में हमेशा आगे रहा है। यह फिल्में ही हैं जो रक्षाबंधन के दिन सुबह सुबह हमें अपने गीतों से भाव विह्वल कर देती हैं- “भैया मेरे..“(छोटी बहन), “बहना ने भाई की कलाई से..(रेशम की डोरी), “फूलों का तारों का सबका कहना है..“( हरे राम हरे कृष्ण), “देख सकता हूं मैं कुछ भी होते हुए..“ (मजबूर), “मेरे भैया मेरे चंदा मेरे ..“ (काजल), “हम बहनों के लिए..’’ (अंजाना) वगैरह वगैरह। फिल्मों में राखी गीतों की लंबी फेहरिस्त है जिसे सुनकर कठोर से कठोर  भाई भी बहन के स्नेह से अश्रुपूरित हो उठता है। फिल्म इंडस्ट्री में जहां रोमांस का परचम फहराया जाता है वहां बहन-भाई के रिश्तों की प्रगाढ़ता इन गानों में दिखाई देती है। पर्दे पर सितारे जो करें अपने निजी जीवन मे वे बहुत भावुक होते हैं, इस बात को बताने के लिए एक ही उदाहरण काफी है सलमान खान और उनकी बहन अर्पिता शर्मा का रिश्ता। सलमान खान अपनी सगी बहन अलवीरा से भी ज्यादा छोटी बहन अर्पिता (जो उनके पिता की दत्तक बेटी है) को प्यार देते हैं। वे अर्पिता के पति आयुष शर्मा के लिए फिल्म भी बना चुके हैं। इस इंडस्ट्री में बनाए गए भाई बहन के रिश्तों को सगे रिश्तों से ज्यादा महत्व दिया जाता है। मैं स्वयं (लेखक) रवीना टंडन को बहन बनाया था- वर्षों पहले, और पूरे कैरियर में गॉसिप लेखक होकर भी कभी उसके लिए गॉसिप की एक लाइन नहीं लिखा।

सिनेमा के पर्दे पर चमकने वाली हीरोइनें भी अपने भाई से चाहे सालभर दूर रहें, उनकी कोशिश होती है कि रक्षाबंधन के दिन वे भाई की कलाई में राखी का धागा बांधने के लिए जरूर साथ रहें। प्रियंका चोपड़ा (भाई- सिद्धार्थ), श्रद्धा कपूर ( भाई- सिद्धान्त), सोहा अली(भाई- सैफ अली खान), एकता कपूर ( भाई- तुषार कपूर), कृष्णा श्रॉफ (भाई- टाइगर श्रॉफ), जोया अख्तर (भाई- फरहान अख्तर) अनुष्का शर्मा (भाई- करुणेश) , हुमा कुरेसी (भाई- साकिब सलीम) और राखी सावंत (भाई राकेश सावंत) आदि तारिकाएं कभी अपने भाइयों को राखी के दिन मिलना नहीं भूलती और वे ( चाहे जिस धर्म से हों ) अपने भाई को राखी भी बांधती हैं।

हम गुजारिश करेंगे कि पर्दे की स्टार बहने जैसे अपने भाई को राखी बांधती हैं, वैसे ही वे बॉर्डर पर तैनात अपने फौजी भाइयों को भी एक राखी ज़रूर भेजें इस संदेशे के साथ-“ भैया मेरे राखी के बंधन को निभाना…“। तभी सार्थक होगा आज के परिवेश में ’रक्षाबंधन’ का सही अर्थ !

SHARE

Mayapuri