श्वेता तिवारी को चोली में फ़ुटबाल पसंद नही

1 min


लड़कियों के रंग रूप को लेकर बहस आगे बढ़ती जा रही है. बिग बॉस की विजेता श्वेता तिवारी ने इस बारे में बात करते हुए कहा, ‘जो दर्शक फिल्म देखने आते हैं, उन्हें गोरी हीरोइन ही पसंद आती है. वे काली लड़कियों को परदे पर हीरोइन के रूप में देखना पसंद नहीं करते. इस सोच में बदलाव की जरूरत है.’

13-1373703417-2shweta-tiwari-2
उन्होंने भारतीय लोगो की मानसिकता पर सवाल उठाते हुए कहा, ‘भारत में लोगों की मानसिकता ही ऐसी है कि हमें गोरी-चिट्टी लड़कियां ही सुंदर दिखती हैं. किसी सांवली लड़की के नैन-नक्श भले ही कितने भी खूबसूरत हों. लेकिन उसे सुंदर नहीं माना जाता.’
श्वेता ने ‘चोली में फुटबॉल दिखेला’ सरीखे भोजपुरी फिल्मी गीतों की तीखी आलोचना करते हुए कहा, ‘मैं ऐसी फिल्मों में अभिनय नहीं कर सकती, जिनमें अभिनेत्रियों को सेक्स की वस्तु की तरह पेश किया जाता है.’
रियलिटी शो ‘बिग बॉस-4’ की विजेता ने कहा, ‘मैं स्पष्टवक्ता हूं और घुमा-फिराकर बात नहीं कर सकती. लिहाजा मेरे जैसा इंसान राजनीति नहीं कर सकता.’


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये