बर्थडे स्पेशल: मुस्लिम पठान होने के बावजूद हमेशा ब्राह्मण बनकर रहे इरफान खान, बनना चाहते थे क्रिकेटर

1 min


बॉलीवुड के बेहतरीन और शानदार ऐक्टर इरफान खान इन दिनों लंदन में अपनी बीमारी का इलाज करवा रहे हैं। आज उनका 52वां जन्मदिन है, इरफान के सभी फैंस उनके लिए यही दुआ मांग रहे हैं कि वो जल्द से जल्द ठीक हो जाएं और भारत वापस लौट आएं। बॉलीवुड से लेकर हॉलीवुड तक अपनी ऐक्टिंग से लोगों के दिलों में अपनी खास जगह बनाने वाले अभिनेता इरफान खान ने हर वर्ग के दर्शकों को प्रभावित किया है। तो आइए आज उनके जन्मदिन के मौके पर हम आपको बताते हैं उनसे जुड़ी कुछ खास बातें…

– इरफान का जन्म 1967 जयपुर के एक मुस्लिम पठान परिवार में हुआ था। उनका पूरा नाम साहबजादे इरफान अली खान है। उनके पिता टायर का व्यापार करते थे। पठान परिवार का होने के बावजूद इरफान बचपन से ही शाकाहारी हैं। उनके पिता उन्हें हमेशा यह कहकर चिढ़ाते थे कि पठान परिवार में ब्राह्मण पैदा हो गया।

– इरफान खान का शुरुआती जीवन संघर्षों से भरा था। जब उनका एनएसडी में प्रवेश हुआ, उन्हीं दिनों उनके पिता की मृत्यु हो गई। इसके बाद इरफान को घर से पैसे मिलने बंद हो गए। एनएसडी से मिलने वाली फेलोशिप के जरिए उन्होंने अपना कोर्स खत्म किया। इरफान खान ने अपनी क्लासमेट सुतपा सिकंदर से 23 फरवरी 1995 को शादी की।

– इरफान के संघर्ष के दिनों में सुतपा हमेशा उनके साथ खड़ी रहीं। इरफान ने जब सुतपा सिकंदर से शादी का फैसला किया तो वो उनके लिए धर्म बदलने के लिए भी तैयार हो गए थे लेकिन सुतपा के घरवाले दोनों की शादी के लिए तैयार हो गए, जिसके बाद इरफान को धर्म बदलने की जरूरत नहीं पड़ी। इरफान खान ने अपने करियर में कई यादगार फिल्मों में काम किया है।

– बॉलीवुड के साथ-साथ इरफान हॉलीवुड में भी सक्रिय रहे हैं। उन्होंने ‘स्पाइडर मैन’, ‘जुरासिक वर्ल्ड’ और ‘इन्फर्नो’ जैसी कई हॉलीवुड फिल्मों में काम किया। हाल ही में हॉलीवुड अभिनेता टॉम हैंक्स ने उनकी सराहना करते हुए कहा था कि इरफान की आंखें भी अभिनय करती हैं।

– इरफान ने पहली बार 2005 में आई फिल्म ‘रोग’ में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। फिल्म ‘हासिल’ के लिए इरफान खान को उस साल का ‘बेस्ट विलेन’ का फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला। उसके बाद इरफान ने ‘लंचबॉक्स’, ‘गुंडे’, ‘हैदर’, ‘पीकू’ और ‘हिंदी मीडियम’ जैसी बेहतरीन फिल्मों में काम किया।

– इरफान खान को फिल्म ‘पान सिंह तोमर’ के लिए नेशनल अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था। साल 2011 में भारत सरकार की तरफ से उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया। पिछले साल यानी साल 2018 में इरफान को न्यूरो एंडोक्राइन नाम की बीमारी हो गई ।

– इसके इलाज के लिए इरफान लंबे समय से लंदन में अपना इलाज करवा रहे हैं । बीमारी के चलते इरफान ने एक साल से फिल्म भी नहीं की है । फिल्म ‘हिंदी मीडियम’ के लिए बेस्ट एक्टर का अवार्ड मिला है । बीमारी के बाद आखिरी बार इरफान फिल्म ‘कारवां’ में नज़र आए हैं।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए  www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.

SHARE

Sangya Singh