बर्थडे स्पेशल: रामायण की मंथरा और 40 के दशक की ग्लैमरस ऐक्ट्रेस ललिता पवार इस हादसे के बाद करने लगीं थी नेगेटिव रोल

1 min


lalita_pawar

रामानंद सागर के चर्च‍ित धारावाहिक रामायण में मंथरा के रोल से फेमस हुईं 40 के दशक की अभिनेत्री ललिता पवार का आज (18 अप्रैल) को जन्‍मदिन है। ललिता पंवार हिंदी सिनेमा की उन अभिनेत्रियों में से थीं, जिन्‍होंने फिल्मों के साथ साथ टीवी पर भी खूब नाम कमाया। ललिता पवार 18 अप्रैल 1916 को नासिक में पैदा हुई थीं, वहीं 24 फरवरी 1998 को पुणे में उनका निधन हो गया था।

lalita_pawar

12 साल की उम्र में शुरु किया काम

हिंदी सिनेमा जगत में उन्‍हें ललिता के नाम से ही जाना गया लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि उनका असली नाम अंबा लक्ष्‍मण राव था। ललिता ने फिल्मों में शुरुआत बाल कलाकार के रूप में की थी। पहली बार वह बिना बोलती यानी एक मूक फिल्म में नजर आई थीं जिसके लिए उन्हें 18 रुपए फीस मिली थी। 12 साल की उम्र में 1928 में उन्‍होंने फिल्म राजा हरिश्‍चंद्र में काम किया था।

lalita_pawar

गाना भी गाती थीं ललिता पवार

ललिता पवार अपनी जवानी के दिनों में काफी ग्लैमरस और खूबसूरत थीं। वह जितनी अच्‍छी एक्‍ट‍िंग करती थीं, उससे बेहतर वह गाती थीं। वो 1935 की फिल्म ‘हिम्मते मर्दां’ में उनका गाया ‘नील आभा में प्यारा गुलाब रहे, मेरे दिल में प्यारा गुलाब रहे’ उस वक्त काफी लोकप्रिय हुआ था। वह लगातार कामयाब होती जा रही थीं और इसी दौरान उनके साथ एक हादसा हुआ जिससे उनका चेहरा खराब हो गया।

lalita_pawar

1942 में फिल्म जंग-ए-आजादी की शूटिंग के दौरान एक्टर भगवान दादा ने ललिता को तमाचा मारा था। इस तमाचे के बाद वह जमीन पर गिर गईं और उनके कान से खून आ गया था। इसके बाद डॉक्‍टर ने उन्‍हें कोई गलत दवा दे दी जिससे उनके शरीर के दाहिने हिस्‍से को लकवा मार गया।

lalita_pawar

लकवा मारने की वजह से ललिता पवार के करियर पर ब्रेक लग गया था। उनकी दाहिनी आंख सिकुड़ गई थी और उनका चेहरा खराब हो गया था। अब इस चेहरे के साथ कोई भी उन्‍हें काम नहीं देता था। लंबे इंतजार के बाद 1948 में निर्देशक एसएम यूसुफ की फिल्म गृहस्थी में उन्‍हें रोल मिला।

lalita_pawar

ललिता पवार ने दो शादियां की थीं। पहली शादी उन्‍होंने गनपत राव पवार से की और बाद में उन्‍होंने प्रोड्यूसर राजप्रकाश गुप्‍ता से शादी की। 1990 में ललिता पवार को जबड़े का कैंसर हुआ। कैंसर की वजह से न सिर्फ उनका वजन कम हो गया, बल्कि उनकी याददाश्त भी कमजोर होने लगी जिसके कारण ललिता पवार का निधन हो गया।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.

SHARE

Sangya Singh