बर्थडे स्पेशल: सिर्फ फिल्मों में ही नहीं, नीम का पेड़ और करमचंद जैसे कई सीरियल्स में भी किया बेहतरीन अभिनय

1 min


pankaj_kapoor

सांवला रंग और चेहरे पर चेचक के दाग होने के बावजदू अभिनय की दुनिया में अपनी एक खास पहचान बनाने वाले अबिनेता पंकज कपूर का आज जन्मदिन है। पंकज कपूर में इंडस्ट्री में अपनी जगह बनाने के लिए कड़ी मेहनत के साथ-साथ काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। पंकज कपूर जाने माने बॉलीवुड स्टार शाहिद कपूर के पिता हैं। आज पंकज कपूर का 65वां जन्मदिन है। उनका जन्म 29 मई 1954 को पंजाब के लुधियाना में हुआ था। उन्होंने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से ग्रेजुएशन के बाद 4 साल थिएटर किया था। जिसके बाद उन्हें बॉलीवुड में पहला ब्रेक फिल्म ‘गांधी’ से मिला था। उसके बाद पंकज कपूर ने अपने करियर में कभी पीछे पलटकर नहीं देखा। उन्होंने फिल्मों के साथ-साथ टीवी की दुनिया में भी अपनी अलग जगह बनाई। आइए उनके जन्मदिन के मौके पर आपको बतातें हैं उनके जीवन से जुड़ी खास बातें…

pankaj kapur

‘गांधी’ फिल्म से की करियर की शुरुआत

अभिनय के क्षेत्र में अधिक रूचि होने के कारण ही 1973 में अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई ख़त्म करने के बाद पंकज कपूर ने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में दाखिला ले लिया और प्रशिक्षण के दौरान ही इन्हें बेस्ट ऐक्टर के अवॉर्ड से नवाज़ा गया । 1982 में ‘गांधी’ फिल्म से उन्होंने करियर की शुरुआत की।

pankaj kapur

कई फिल्मों में किया अभिनय

इसके बाद से उन्होंने एक एक्टर, स्टोरी राइटर, स्क्रीन राइटर और डायरेक्टर के तौर पर काम किया। गांधी फिल्म के बाद उनकी लोकप्रिय फिल्मों में जाने भी दो यारों, मंडी, एक डॉक्टर की मौत, राख, चमेली की शादी, एक रुका हुआ फैसला, रोजा, मकबूल, दि ब्लू अम्ब्रैला और फाइंडिंग फैनी जैसी फिल्मों में काम किया।

pankaj kapur

हर तरह के रोल बखूबी निभाए

उन्होंने विलेन, कॉमेडियन, लीड और सपोर्टिंग लगभग हर तरह के रोल बखूबी निभाए। पंकज कपूर के अलावा ओम पुरी ही एक ऐसे कलाकार रहे, जिन्होंने चेहरे पर चेचक के धब्बों के बाद भी अपने अभिनय से ऐसा कमाल किया कि लोगों ने इन कलाकारों को पूरे दिल से सराहा।

pankaj kapur

‘मौसम’ से निर्देशन के क्षेत्र में रखा कदम

पकंज कपूर ने फिल्म ‘मौसम’ से निर्देशन के क्षेत्र में भी कदम रखा, छोटे पर्दे पर भी पंकज कपूर ने अपने अभिनय की छाप छोड़ी। नीम का पेड़, ज़बान संभाल के, मुंगेरीलाल के हसीन सपने, करमचंद, ऑफिस-ऑफिस जैसे टीवी सीरियल्स अब भी लोगों को याद हैं । पंकज कपूर को वर्ष 1993 में प्रदर्शित फिल्म मकबूल के लिये भी सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किए गए।

pankaj kapur

पंकज कपूर ने दो शादियां कीं

पर्सनल लाइफ की बात करें, तो पंकज कपूर ने दो शादियां कीं। पहली शादी उन्होंने नीलिमा अजीम से साल 1965 में की थी। ये शादी 1974 को टूट गई। इसके बाद उन्होंने दीना पाठक की बेटी और एक्ट्रेस सुप्रिया पाठक से साल 1988 में शादी की। पंकज कपूर के बेटे शाहिद कपूर आज बॉलीवुड के पॉप्युलर स्टार हैं।

pankaj kapur

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.


Like it? Share with your friends!

Sangya Singh

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये