बर्थडे स्पेशल: शादी में आई कई मुश्किलें, फिर भी शबाना आज़मी ने नहीं छोड़ा जावेद अख्तर का साथ

1 min


करीब करीब 4 दशक तक हिंदी सिनेमाजगत पर राज कने वाली फिल्म और थिएटर की जानी मानी अदाकारा शबाना आज़मी का आज जन्मदिन है। शबाना आज़मी ने हिंदी सिनेमा को एक से बढ़कर एक हिट फिल्में दी हैं और आज भी उनका नाम बॉलीवुड की मशहूर और बेहतरीन ऐक्ट्रेसेस में गिना जाता है। शबाना आजमी अपनी फिल्मों को लेकर जितनी चर्चा में रहीं उनकी पर्सनल लाइफ ने भी उतनी ही सुर्खियां बटोरीं। अक्सर अपने बेबाक बयानों से चर्चा में रहने वालीं शबाना आजमी आज एक कुशल समाज सेविका भी हैं। शबाना अपना एनजीओ भी चलाती हैं और लोगों की मदद करने के लिए हमेशा आगे रहती हैं। तो आइए आज उनके जन्मदिन के मौके पर हम आपको बताते हैं उनकी लाइफ से जुड़ी कुछ खास बातें…

– शबाना आजमी ने श्याम बेनेगल की फिल्म ‘अंकुर’ से साल 1974 में डेब्यू किया था। यह फिल्म हैदराबाद की सच्ची लव स्टोरी पर आधारित थी। इस फिल्म में शबाना आजमी ने शादीशुदा नौकरानी का किरदार निभाया था जिसे कॉलेज के एक लड़के से प्यार हो जाता है। इस फिल्म के लिए शबाना डायरेक्टर की पहली पसंद नहीं थी लेकिन उस वक्त सभी हीरोइनों ने इस रोल को करने के लिए मना कर दिया, जिसके बाद यह किरदार शबाना आजमी ने निभाया।

– ‘अंकुर’ फिल्म में शबाना आजमी के किरदार का नाम लक्ष्मी था। यह फिल्म सफल हुई और आजमी को पहली फिल्म के लिए ‘नेशनल फिल्म अवॉर्ड फॉर बेस्ट एक्ट्रेस’ से नवाजा गया था। शबाना आजमी ने जया बच्चन से प्रेरित होकर फिल्म इंडस्ट्री में आने का फैसला किया था। एक इंटरव्यू में शबाना ने कहा था – ‘फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा बनाई गई फिल्म में जया भादुरी को सुमन के रोल में देखकर पुणे इंस्टीट्यूट में आने का फैसला लिया।’

– शबाना आजमी के पिता कैफी आजमी मशहूर कवि थे जबकि मां शौकत अली मशबूर थियेटर आर्टिस्ट थीं। इंडिया टुडे के मुताबिक शबाना आजमी का शशि कपूर पर क्रश था। शशि कपूर के पिता शबाना आजमी के पड़ोसी थे। शशि अपने पिता से मिलने आया करते थे तभी एक दिन शबाना आजमी ने शशि कपूर का एक तस्वीर पर ऑटोग्राफ भी ले लिया था। शबाना आजमी और शशि कपूर ने साल 1976 में आई फिल्म ‘फकीरा’ में एक साथ काम किया है।

– शबाना आजमी की जब जावेद अख्तर से पहली बार मुलाकात हुई थी तो वह पहले से ही शादीशुदा थे। उनकी शादी हनी ईरानी से हो चुकी थी। एक इंटरव्यू के दौरान शबाना आजमी कह चुकी हैं – ‘जावेद साहब शादीशुदा थे इस वजह से कई बार ब्रेकअप करने की कोशिश की। ऐसा नहीं हो पाया, जिसके बाद जावेद साहब ने तलाक लेकर 9 दिसंबर 1984 को शादी कर ली।’

https://www.instagram.com/p/BkalpEyBAWs/?hl=en&tagged=shabanaazmi

– एक ओर जहां जावेद अख्तर शादी के लिए तैयार थे तो वहीं शबाना के पिता इस शादी के लिए मान नहीं रहे थे। कैफी आजमी को लगता था कि शबाना की वजह से जावेद अख्तर और हनी के बीच दरार आई। साथ ही वो नहीं चाहते कि शबाना एक शादीशुदा आदमी से शादी करें लेकिन शबाना ने पिता कैफी को यकीन दिलाया कि जावेद अख्तर की शादी उनकी वजह से नहीं टूटी। तब जाकर कैफी साहब माने।

– शबाना आजमी के पेरेंट्स इस शादी के लिए राजी नहीं थे। पहली पत्नी से जावेद अख्तर के दो बच्चे हैं फरहान अख्तर और जोया अख्तर। शबाना का इन दोनों से अच्छा रिलेशनशिप है। शबाना आजमी ने पांच बार नेशनल फिल्म अवार्ड जीता। 1975 में ‘अंकुर’, 1983 में ‘अर्थ’, 1984 में ‘खंडर’, 1985 में ‘पार’ और 1999 में ‘गॉडमदर’। वहीं उन्हें पांच बार फिल्म फिल्म फेयर पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है। फिल्मों में उनके शानदार योगदान के लिए उन्हें पद्म श्री और पद्म भूषण भी मिल चुका है।

– शबाना आजमी फिल्म ‘वॉटर’ के लिए बॉल्ड भी हो गई थी। हालांकि फिल्म उस वक्त नहीं बन पाई और बाद में इस फिल्म की पूरी कास्ट ही बदल गई थी। शबाना आजमी ने साल 1996 में रिलीज हुई फिल्म ‘फायर’ में लेस्बियन का किरदार निभाया था। यहां तक कि इस फिल्म में उन्होंने ऑनस्क्रीन एक्ट्रेस नंदिता दास को किस भी किया था। इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर सनसनी मचा दी थी।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए  www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज Facebook, Twitter और Instagram पर जा सकते हैं.

 


Like it? Share with your friends!

Sangya Singh

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये