इस वंडर गर्ल प्रियंका के तेज और साहस का रंग, सब रंगों पर भारी क्यों है ?

1 min


दुनिया वाले यूं ही हमारी देसी गर्ल प्रियंका चोपड़ा को वंडर वूमन नहीं कहते हैं। एक पल में यहां और दूसरे पल में वहां कभी टीवी, कभी फिल्म, कभी स्टेज कभी रिकॉर्डिंग। प्रियंका का काम कभी खत्म ही नहीं होता। होली का त्योहार सर पर है और प्रियंका चाहती है होली खेलना लेकिन यह मैजिक वूमन आखिर नाजुक शरीर की ही तो बनी है। काम निपटाते निपटाते बस थकान की टू मच हो जाने के कारण वो पड़ गयी बीमार। सबने उन्हें बार-बार कहा ‘‘थोड़ा आराम कर लो, थोड़ा आराम कर लो, होली नहीं खेलना है क्या?’’ लेकिन मिठ्ठू बोलती रही ‘‘बस कल से ब्रेक, बस कल से ब्रेक’ लेकिन ब्रेक लेने का नाम ही नहीं ले रही थी और बॉडी ने अपने आप ब्रेक लगा लिया। प्रियंका को ओवर एक्जीशन के लिए इन्ट्रावेनस फ्लूड (आई वी) चढ़ाया गया। लेकिन प्रियंका तो प्रियंका ठहरी। बाजू में सलाइन की सुई लगाये लगाये उन्होंने अपनी आने वाली फिल्म की डबिंग पूरी की और सब देखते रह गये। होली का रंग चढ़े ना चढ़े, इस वंडर गर्ल के तेज और साहस का रंग तो हम सब पर चढ़ ही गया।

SHARE

Mayapuri