अनिल कपूर नहीं चाहते थे सोनम एक्ट्रेस बने

1 min


बॉलीवुड में अब तो नहीं लेकिन पहले ऐसा था कि यहां स्थापित स्टार्स अपने बेटे को तो धूमधाम से फिल्मों में लांच करते थे लेकिन बेटियों को वे सात परदों में छुपाकर रखते थे। फिर चाहे स्व. राज कपूर हों या धर्मेन्द्र। इन्होंने अपने बेटों को हिन्दी फिल्मों का नायक बनाया लेकिन बेटियों के नाम पर ये पीछे हटते रहे। बाद में इनकी मर्जी से नहीं बल्कि इनके खिलाफ इनके परिवार की लड़कियां करिश्मा कपूर, करीना कपूर या फिर ईशा देओल आदि फिल्मों में आई। ऐसे ही जब अनिल कपूर को पता चला कि उनकी बेटी सोनम कपूर फिल्मों में आने के लिये पर तौल रही हैं तो वे फौरन सतर्क हो गये। बाद में अनिल ने सगे संबधियों या यार दोस्तों से सोनम को समझाने के लिये प्रेशर डाला। शबाना आजमी और अनिल कपूर के पारिवारिक संबन्ध हैं। एक बार अनिल ने शबाना आजमी को फोन कर सारी बाते बताते हुये कहा कि वो सोनम को समझाये कि वो फिल्मों में जाने की बजाये कुछ और कर लें और जब सोनम शबाना से मिली तो वहां दृश्य उल्टा ही था क्योंकि शबाना ने सोनम को कहा कि अगर वो समझती हैं कि वो फिल्मों में कुछ करने का मादा रखती हैं तो उसे फिल्मों मे आना चाहिये, इस बारे में वो किसी की न सुने। बाद में अनिल ने शबाना से शिकायत की, कि मैंने आपको क्या कहा था और आपने सोनम को क्या कहा। तब शबाना ने अनिल को समझाया कि आज वक्त बदल चुका है लिहाजा बच्चे जो करना चाहते हैं उन्हें रोकने की बजाय उन्हें प्रोत्साहित करना चाहिये, आप भी ऐसा ही करें। इस तरह सोनम कपूर फिल्मों में आई। बता दें कि शबाना ने फिल्म ‘नीरजा’ में सोनम की मां का किरदार भी अदा किया है

SHARE

Mayapuri