गजेन्द्र चौहान के गले की फांस

1 min


फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टिट्यूट आॅफ इंडिया की नवगठित गवर्निंग कमेटी के चेयरमैन का पद गजेन्द्र सिंह चौहान के लिए गले की फांस बनता दिखाई पड़ रहा है। इस पद पर उनकी नियुक्ति ने उनकी योग्यता पर ही सवाल खड़ा कर दिया है। गजेन्द्र ने ‘महाभारत’ धारावाहिक में युधिष्ठिर की भूमिका निभाई थी, जिसे याद करने के बजाय लोग उनके द्वारा की गई छोटी छोटी फिल्मों की चर्चा ज्यादा कर रहे हैं। गवर्निंग कौंसिल के कुछ सदस्य जैसे जाहनू बरूआ, संतोष शिवन और पल्लवी जोशी ने पदभार ग्रहण करने से पहले ही इस्तीफा भेज दिया है। बाॅलीवुड के कुछ और लोग प्रकारान्तर से क्रिटिसाइज करते देखे गये हैं। अनुपम खेर आनंद पटवर्धन और सुभाष घई जैसे लोगों ने इंस्टिट्यूट के संचालन पर सलाह दी है तो शत्रुघ्न सिन्हा ने पूर्व प्रशिक्षणार्थी की हैसियत से वहां दौरा किया है। मामला गर्म है। छात्र गजेन्द्र को पद के लायक नहीं मान रहे हैं और गजेन्द्र चैहान हैं जो ना पद से हट पा रहे हैं और ना ही जुड़े रह पाने की स्थिति में हैं। खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे की हालत में चौहान कहते हैं- ‘सरकार कहे तो मैं एक मिनट में पद छोड़ने के लिए तैयार हूं!’ भाई, पहले पद पाओ तो…!


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये