प्रकाश झा के डायलॉग्स से प्रभावित हुई रियल लाइफ आभा माथुर

1 min


फिल्म निर्देशक प्रकाश झा ने अपनी आने वाली फिल्म ‘जय गंगाजल’ के प्रमोशन के लिए रांची के पुलिस हेडक्वार्टर के सीनियर आईपीएस अधिकारियों से मुलाकात की। साथ ही प्रकाश झा को रियल लाइफ आभा माथुर – सीआईडी ​​यानी की आईजी संपत मीणा से मिलने का मौका भी मिला। आईजी संपत मीणा से साथ अन्य कई अन्य महिला पुलिस कर्मियों ने भी फिल्म का ट्रैलर देखा व सबको फिल्म का डॉयलॉग ‘जब खाखी का रंग सही हो ना तो चाहे उसे मर्द पहने या औरत, तुम जैसे नामर्दो को चुटकी में उसकी औकात दिखा देती है‘ काफी पसंद आया। इस दौरान प्रकाश झा ने बताया कि ‘जय गंगाजल’ फिल्म एक महिला पुलिस ऑफिसर पर केंद्रित है। जिसमें एक ईमानदार पुलिस ऑफिसर को संघर्ष करना पड़ता है और आखिरकार वह कैसे जीत हासिल करती है यह इस फिल्म में दिखाया गया है। ‘जय गंगाजल’ प्रकाश झा द्वारा 2003 में निर्मित ‘गंगाजल’ की सीक्वल है। फिल्म में अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा आभा माथुर नाम की महिला पुलिस ऑफिसर की भूमिका निभा रही हैं और यह फिल्म 4 मार्च को सिनेमाघरों में प्रदर्शित होगी।

IMG-20160202-WA0077 IMG-20160202-WA0081 IMG-20160202-WA0083 IMG-20160202-WA0101 IMG-20160202-WA0163

 

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये