बिपाशा ने वही किया जो उन्हें ऐसे में करना चाहिये

1 min


बिपाशा को इस बात से कोफ़्त है कि असली माजरा बिना समझे ही लोग अफवाहें उड़ाने लगते है। पिछले दिनों जन्माष्ठमी के अवसर पर पुणे के एक दही हांडी कार्यक्रम में बिपाशा को शरीक होन था लेकिन ऐन मौके पर उनके इंकार कर देने से ऑर्गनाइज़र लोगों में अफरातफरी मच गयी और बिपाशा के स्टारी नखरों की आलोचना होने लगी जिससे बिपाशा का नाराज होना लाज़मी था। दरअसल बात यह हुई की बिपाशा उस प्रोग्राम में शिरकत करने वहाँ जैसे ही पहुँची उन्होंने देखा की वहाँ कोई भी अरेंजमेंट दुरुस्त नहीं है, ना वहाँ कोई सेक्युरिटी पर्सनल है, ना बर्रीकैडिंग है और तो और उस स्टेज तक पहुँचने के लिये कोई बैकस्टेज भी नहीं बनाया गया था, यानी बिप्स को उस जबर्दस्त भीड़ के अंदर से जगह बनाते हुए स्टेज तक पहुंचना था, ऐसे में बिपाशा अपनी सेफ्टी को भला जोखिम में कैसे डालती? लिहाजा वे उलटे पाँव लौट गयी और एक अच्छी और प्रोफेशनल इंसान होने के नाते उन्होंने अपने टीम को तुरंत वो पेमेंट लौटा देने का निर्देश दिया जो उन्हें उस कार्यक्रम में समय देने के लिये मिला था। अब बताइये, बिपाशा भला क्यों नही झल्लायेगी?


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये