संपादकीय …जब सरोगेट चाइल्ड होंगे बॉलीवुड के स्टार

1 min


तुषार कपूर के सरोगेट-पुत्र लक्ष्य कपूर की एक तस्वीर सोशल मीडिया में वायरल हुई है। इस चित्र में नन्हे लक्ष्य को दादा जीतेन्द्र माथे पर चूम रहे हैं। देखने वालों के मूंह से बरबस निकलता है-वाह क्या बच्चा है! इस क्यूट बच्चे को लेकर किसी ने प्रतिक्रिया दी है- बॉलीवुड का कल का सितारा!!

सचमुच ‘सरोगेट’ बच्चे (IVF विधि से पैदा किये गये) बहुत प्यारे और दर्शनीय होते हैं। गत दिनों कबड्डी-मैदान में आमिर खान के सरोगेट बेटे आजाद को अमिताभ बच्चन कबड्डी भूलकर खिलाना शुरू कर दिए थे, तब दर्शक मैच भूलकर आजाद राव खान को देखने में लग गये थे। और कुछ ऐसा ही हुआ था जब इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर शाहरुख-गौरी के साथ अबराम को देखने के लिए भीड़ जुट गई थी। तुषार कपूर बॉलीवुड के पहले ‘इकलौते-पिता’ हैं जिन्होंने IVF विधि से अपने लिए बेटा पैदा कराया है। बेशक तुषार को पुत्र लक्ष्य देने के लिए दो महिलाओं को सहयोग देना पड़ा होगा (एक जिसने ‘अंड’ दिया होगा और दूसरी जिसने कोख दी होगी) पर वे दुनिया में अनजान-मांयें बनकर रह जाएंगी। बहुत संभव है कल उनका ‘जनित’-लक्ष्य बॉलीवुड का स्टार भी बन जाए। पर कहलायेगा वह तुषार कपूर का बेटा…बालाजी प्रोडक्शन का वारिस। और, ऐसे बहुत लोग हैं जो चाहते हैं सिंगल-पैरेन्टस बनें। कुछ लोगों की मजबूरी हो सकती है कुछ लोगों का शौक जोकि तुषार ने करके दिखा दिया।

वैसे, बतादें कि बॉलीवुड में सरोगेट बच्चों की संख्या बढ़ रही है। बताते हैं- फरहा खान- शिरीष कुंदर के ट्रिपलेट (तीन) इसी विधि की देन हैं। सुहैल खान (सलमान के भाई) और उनकी पत्नी सीमा की दूसरी संतान योहान खान भी ऐसा ही बच्चा है। यूं तो सुष्मिता सेन बॉलीवुड की पहली ‘सिंगल मदर’ हैं जो बिन ब्याहे दो बेटियों (रेनी और आलीशान) की मां हैं। सुश ने बेटियां एडाप्ट की थी अनाथालय से, वैसे ही रवीना टंडन ने (पूजा और छाया) एडाप्टेशन की थी। मिथुन चक्रवर्ती की बेटी दिशानी भी कचरे के डब्बे के पास से मिली है। जाहिर है कल यही बच्चे बॉलीवुड के स्टार होंगे। यानी- एक दौर आयेगा जब पर्दे पर सरोगेट-सितारों की धूम होगी। ये वे सितारे होंगे जिनकी न कोई जाति पूछेगा और ना ही खानदान! सरोगेसी-परिवार का जिन्दाबाद होगा बॉलीवुड में! जय हो बॉलीवुड का।
– संपादक

SHARE

Mayapuri