ग्वाटेमाला फिल्म फेस्टिवल के उद्घाटन समारोह में पहुंचे बोनी कपूर

1 min


Boney kapoor, Sandeep Marwah, George Delarosa

दो देश जब एक दूसरे से मिलते हैं तो उनकी बातचीत के साथ साथ उनकी सभ्यता संस्कृति के विषय में अवश्य ही पता चलता है ऐसे ही मध्य अमेरिका के देश मैक्सिको के दक्षिण में स्थित खूबसूरत देश ग्वाटेमाला जो खूबसूरत झील, अपने बड़े ज्वालामुखियों और विशाल वर्षावन के लिए प्रसिद्ध हैं। यह कहना था मारवाह स्टूडियो में चल रहे ग्वाटेमाला फिल्म फेस्टिवल के उद्घाटन में संदीप मारवाह का। इस अवसर पर ग्वाटेमाला के राजदूत जोर्जेस डे ला रोशे, मिशन के उप प्रमुख डेनिलो मारकुची के साथ हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के जाने माने निर्माता निर्देशक बोनी कपूर भी उपस्थित हुए।

Sandeep Marwah, George Delarosa, Boney kapoor
Sandeep Marwah, George Delarosa, Boney kapoor

फिल्म फेस्टिवल के उद्घाटन से पहले वहां की संस्कृति और सभ्यता को दर्शाती हुई एक फोटोग्राफ प्रदर्शनी का भी प्रदर्शन किया गया। जिसमें वहां के खेल व वहां के नृत्य को भी कैमरे की नज़र से दर्शाया गया। बोनी कपूर ने छात्रों को सम्बोधित करते हुए कहा कि यह सिनेमा भी एक प्रकार का नया सिनेमा है जिससे आपको काफी कुछ नया सिखने को मिलेगा जो आपकी फ़िल्मी कल्पनाओं को नयी सोच दे सकता है जिससे आप और बेहतर कर सकते हैं वैसे भी हमारी फिल्म इंडस्ट्री को नयी सोच, नयी कहानी की हमेशा ही तलाश रहती है।

Boney kapoor, Sandeep Marwah, George Delarosa
Boney kapoor, Sandeep Marwah, George Delarosa

ग्वाटेमाला के राजदूत जोर्जेस डे ला रोशे ने कहा कि हमारे देश में काफी अच्छी और खूबसूरत लोकेशन हैं जैसे कि भारत में है भारत शुरू से ही मेरा प्रिय रहा है यहाँ के मुस्कुराते चेहरे हमेशा ही आपको एनर्जी और पॉजिटिविटी देते हैं। हम चाहते हैं कि यहाँ के टूरिस्ट व फिल्म निर्माता हमारे देश में आकर शूटिंग करें। जो फिल्में इस समारोह में दिखाई जा रही हैं वह बिल्कुल अलग तरह की फिल्में है जो यथार्थ के काफी करीब हैं और हमेशा ही आने वाली पीढ़ी के लिए प्रेरणा का काम करेगी। मिशन के उप प्रमुख डेनिलो मारकुची ने कहा की इंडो ग्वाटेमाला कल्चरल फोरम का उद्देश्य दोनों देशों के लोगों को आपस में जोड़ना है। ताकि यहाँ के स्टूडेंट वहां जाकर हमारी तकनीक को सीख सकें और हमारे स्टूडेंट यहाँ की संस्कृति और तकनीक को।

Boney kapoor, Sandeep Marwah, George Delarosa
Boney kapoor, Sandeep Marwah, George Delarosa

इस अवसर पर संदीप मारवाह ने कहा कि फिल्में ज्ञान का सबसे अच्छा साधन है जहाँ मनोरंजन के साथ साथ नयी तकनीक से मिल सकते हैं और मुझे बहुत ख़ुशी है कि मेरे छात्रों को इतना अच्छा अवसर मिल रहा है। इस फेस्टिवल में हमने वहां की कुछ फिल्में दिखाई हैं जिसमें प्रमुख हैं पोल, डोंड एकाबबन लॉस कमिनोस, अक्वि मी क्वेडो और हॉली काऊ।

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये