फिल्म ‘ नानक शाह फकीर’ गुरू नानक देव की यात्रा

1 min


गुरबाणी फिल्म प्रोड़क्शंस  द्धारा निर्मित फिल्म ‘ नानक शाह फकीर’ सिखों के गुरू गुरू नानक देव के बचपन से लेकर उनके अंत तक की कहानी को पूरी आत्मियता और धार्मिकता को तहत बनाया गया है ।

nanakshahfakir1

फिल्म शुरू होती हैं नानक देव के घर से जब उनके पिता उन्हें फारसी सिखाने के लिये गुरू का इंतजाम करते हैं लेकिन गुरू को लगता है कि अद्भुत बालक है जो सारी विद्यायें पहले से ही जानता है । यानि नानक बचपन से ऐसे कारनामे करने लगे थे कि लोगों का विष्वास हो गया था कि वे कोई अवतार हैं । बाद में  एक मुस्लिम शख्स मरजाना जिसे उन्होंने नया नाम दिया भाई मरदाना । उनका ऐसा मुरीद हुआ कि ताजिन्दगी उनके साथ ही रहा । इस बीच नानक ने हर जगह जाकर लोगों को धर्म का पाठ पढाया । और सिख धर्म को मजबूत किया ।

film-Nanak-Shah-Fakir-img

फिल्म  की सबसे बड़ी खूबी इसकी प्रमाणिकता है। क्योंकि इसे वास्तविक बनाने के लिये हर उस जगह फिल्म को फिल्माया गया जंहा जंहा गुरू नानक गये थे । फिल्म में नानक की भूमिका निभाने वाले पात्र को शुरू से अंत तक धुधंला ही रखा गया । लेकिन  भाई मरदाना की भूमिका में आरिफ जाकिर  तथा अनय भूमिकाओं में आदिल हुसॅन तथा पुनीत सिक्का ने बहुत ही बेहतरीन तरीके से अपनी अपनी भूमिकायें निभाई हैं । फिल्म का गीत संगीत फिल्म के अनुरूप ही है । अंत में  कह सकते हैं कि फिल्म गुरू नानक की प्रभावषाली यात्रा है ।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये