मूवी रिव्यू: फिल्म ‘एक पहेली लीला’ यानि मादकता भरी खूबसूरत पहेली

1 min


किसी भी फिल्म में अगर टी सीरीज का इन्वॉल्वमेन्ट है तो समझ लिजिये कुछ और हो न हो फिल्म में गाने और उनका फिल्मांकन  बढ़िया होगा। जबकि बॉबी खान द्वारा लिखित और निर्देशित फिल्म  ‘एक पहेली लीला’ में तो लंदन से उदयपुर तथा जैसलमेर तक मधुरता, आधुनिकता तथा रंगीनगी और सन्नी लियोन का सौन्दर्य फैला हुआ है। लिहाजा दर्शक सारा समय में उसी में खोया रहता है ।

sunny1feb6

मीरा यानि सन्नी लियोन लंदन में एक बड़ी मॉडल है । उसे अंधेरे और प्लेन से डर लगता है । जबकि एंडी यानि एक एड आग्रेनाइजर ने इंडिया में सन्नी के एक फोटो शूट के लिये हां कर दी है। इसलिये वो अपनी फोटोग्राफर दोस्त की मदद से सन्नी को राजस्थान ले आता है। पहले तो सन्नी गुस्सा होती है लेकिन बाद में उसे वहां का वातावरण भाने लगता है। शूटिंग स्थल पर उनकी मुलाकात उस इलाके के प्रिंस रणवीर सिंह यानि मोहित अहलावत से होती हैं बाद में मोहित उन्हें अपने महल डिनर पर बुलाता है।  बाद में रणबीर मीरा से शादी कर लेता है । रणबीर सिंह का  भाई है अर्जुन सिंह यानि जस अरोड़ा। जो  बहुत ही क्रूर किस्म का एय्याश इंसान है। दोनों भाईयों का एक खास प्रॉपर्टी के लिये झगड़ा है। रणबीर उस प्रॉपर्टी को हेरिटेज होने के नाते सरकार को दे देना चाहता है जबकि अर्जन को वहां एक मूर्ती की तलाश है जिसकी कीमत हजारों करोड़ है ।

2182_5506e0fce1637

उसी दौरान उसके आदमी वहां घूम रहे श्रवण यानि जय भानूशाली को पकड़ लेते हैं तो वो अपने आपको रणवीर सिंह का दोस्त बताता है । लेकिन रणबीर उसे पहचानने से इंकार कर देता है तभी सन्नी उसे अपनी फोटोग्राफर दोस्त के भाई के तौर पर पहचान लेती है। जय सन्नी को बताता है कि उसका  लीला यानि मीरा से तीन सौ साल पहले से नाता है। उसका यहां आने का यही मकसद है। पता चलता है कि तीन सौ साल पहले लीला और रजनीश दुग्गल आपस में प्यार करते थे। सन्नी पर नजर पड़ते ही वहां का बड़ा चित्रकार भैरो सिंह यानि राहुल देव  उस पर मर मिटता है वो उसकी एक मूर्ती बनाता है और जब वो एक दिन रजनीश और सन्नी को एक साथ देख लेता है तो रजनीश को मार डालता है और जब सन्नी इसका विरोध करती है तो उसे भी मार देता है। जय का कहना है इस जन्म में सन्नी तो उसी सूरत में मीरा के रूप में जन्मी है। जबकि रजनीश और राहुल देव की सूरते बदल चुकी है। वो अपने आपको श्रवण बताता है और मोहित को भैंरो सिंह। लेकिन अंत में तस्वीर कुछ और निकल कर सामने आती है ।

Untitled-1
फिल्म में गीत संगीत इतना मनमोहक, आकर्शक तथा ग्लैमरस है कि दर्शक उसे देख चकाचौंध हुआ रहता है।  इसके अलावा लदंन से जोधपुर  और जैसलमेर का मरूस्थल बहुत ही खूबसूरत दिखाये गये हैं। इस पर सन्नी लियोन जैसी मादक और खूबसूरत सुंदरी वो भी डबल रोल में। ये सब देखते हुये दर्शक का ध्यान भला और किसी चीज की तरफ जाये भी तो कैसे । जहां तक कहानी की बात की जाये तो उसमें कोई नवीनता नहीं । इससे पहले भी ऐसी कहानियां दौहराई जा चुकी हैं । लगता है निर्देशक का ध्यान भी बस सन्नी पर ही था । इसलिये उसने उसके कास्टूयम से लेकर उसके ग्लैमरस हाव भाव कुछ ऐसे दर्शाए हैं कि दर्शक उन्हीं में खाया रहता है । सन्नी की हिन्दी  जितनी माशल्ला है फिल्म में उसका लुक और प्रसनेलीटी उतनी ही हॉट लगी है । वैसे भी फिल्म में कई जगह उसके लिये हॉट शब्द का इस्तेमाल किया है । जहां तक अभिनय की बात की जाये तो इस बार सन्नी से थोडी बहुत एक्टिंग भी करवा ली गई है ।

Tere-Bin-Nahi-Laage

अरसे बाद मोहित अहलावत किसी फिल्म में दिखाई दिया है  प्रसनेलिटी के हिसाब से वो पहले कहीं ज्यादा आर्कषक है। उसका काम भी ठीक रहा। विलन के रूप में जस अरोड़ा अपनी लाउडेनस के हिसाब से अच्छा लगा। जय भानूशाली अतीत के पन्नो में खोये हुये शख्स के तौर पर अच्छा काम कर गया। बाकि राहुल देव, रजनीश  दुग्गल तथा कुछ अन्य सर्पोटिंग आर्टिस्ट भी अपनी अपनी जगह बढ़िया रहे  फिल्म का म्यूजिक तो पहले ही हिट हो चुका है। कई गीतों की कोरियोग्राफी काफी आकर्षक है। कैमरामैन ने लंदन से लेकर राजस्थान तक सारी लोकेशनों को खूबसूरती से कैद किया है। पहली फिल्म के हिसाब से बॉबी खान का निर्देशन ठीक रहा। जहां तक फिल्म की बात की जाये तो उसकी यूएसपी है सन्नी की मादकता भरी खूबसूरती ।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये